संवाद सूत्र, चोपड़ा: तल्लानागपुर औद्योगिक विकास कृषि एवं पर्यटन महोत्सव के चौथे दिन लोक गायिका पम्मी नवल, सुनील थपलियाल व आरती गुंसाई के धार्मिक भजनों की शानदार प्रस्तुति ने देर सायं तक भक्तों को बांधे रखा। मेले में लगे स्थानीय उत्पादों के स्टाल भी लोगों के आकर्षण का केन्द्र बने हुए हैं।

चोपता के चाँदधार में आयोजित महोत्सव के चौथे दिन मेले का शुरूआत करते हुए मुख्य अतिथि जिला पंचायत अध्यक्ष अमरादेई शाह ने कहा कि मेले हमारी पौराणिक संस्कृति के द्योतक है। इसलिए मेलों के संरक्षण सव‌र्द्धन के लिए सामूहिक पहल होने चाहिए। बद्रीनाथ केदारनाथ मंदिर समिति के उपाध्यक्ष अशोक खत्री ने कहा कि तल्लानागपुर क्षेत्र मे पर्यटन की अपार संभावनाएं हैं। इस क्षेत्र को धार्मिक व तीर्थाटन पर्यटन से जोड़ने की दिशा में प्रयास किए जाएंगे। जिला पंचायत उपाध्यक्ष सुमंत तिवारी के प्रतिनिधि जिपंस चोपता सुनीता देवी ने कहा कि मेले मिलन का त्यौहार है। कार्यक्रम का शुभारंभ लोक गायक सुनील थपलियाल ने कालीमठ की काली मा तू दैण ह्वै जैई सस्तुति से कार्यक्रम का शुभारंभ किया। गायिका आरती गुंसाई ने सुफल ह्वै जया तुंगनाथ महादेव तथा पम्मी नवल ने दैणा होय्या खोली का गणेश मोरी का नारेण सहित कई भजनों की प्रस्तुति दी। कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रधान कुण्डा दानकोट जीतराज व संचालन जगवीर सिंह नेगी व लक्ष्मण सिंह नेगी ने संयुक्त रूप से किया। इस मौके पर उपाध्यक्ष गोकुल लाल टमटा, सचिव महेन्द्र सिंह नेगी, कोषाध्यक्ष दीप राणा, जिपंस भारतभूषण भट्ट, भाजपा मण्डल अध्यक्ष गम्भीर सिंह बिष्ट, मठापति अनसोया प्रसाद, लक्ष्मण सिंह बर्तवाल , प्रहलाद सिंह समेत महोत्सव के पदाधिकारी, जनप्रतिनिधि व दर्शक मौजूद थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप