संवाद सहयोगी, रुद्रप्रयाग: समान कार्य समान वेतन सहित अपनी छह सूत्रीय मांगों को लेकर जिले की आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और सेविकाओं का धरना गुरुवार को भी जारी रहा। कार्यकर्ताओं ने पल्स पोलियो अभियान के बाद अब 25 जनवरी को चलने वाले मतदाता दिवस का भी बहिष्कार करने का निर्णय लिया है। कार्यकर्ताओं ने कहा कि जब तक उनकी मांगों पर उचित कार्रवाई नहीं होती, तब तक उनका धरना जारी रहेगा।

जिले के अगस्त्यमुनि, ऊखीमठ व जखोली की आंगनबाड़ी कार्यकर्ता पिछले डेढ़ माह से कार्यबहिष्कार पर हैं। अगस्त्यमुनि ब्लाक की कार्यकर्ता पिछले 42 दिनों से पुराने विकास भवन में धरने पर डटी हैं, वहीं जखोली ब्लाक की आंगनबाड़ी कार्यकर्ता जखोली तहसील में धरने पर बैठी हैं। जबकि तहसील परिसर ऊखीमठ में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का क्रमिक अनशन 34 वें दिन भी जारी रहा। कार्यबहिष्कार के चलते आंगनबाड़ी केंद्रों में होने वाले तमाम कार्य प्रभावित हो रहे हैं। इसके साथ ही राष्ट्रीय पोषण अभियान के तहत संचालित विभिन्न महत्वपूर्ण योजनाओं का संचालन भी नहीं हो पा रहा है। कार्यकर्ताओं का कहना है कि वह डेढ़ माह से आंदोलन कर रही हैं, लेकिन सुनवाई नहीं हो रही है। कहा कि जब तक सरकार उनकी मांगों पर सकारात्मक पहल नहीं करती है, तब तक उनका कार्य बहिष्कार जारी रहेगा। संगठन की जिलाध्यक्ष सुनीता भट्ट, ब्लाक अध्यक्ष रोशनी नौटियाल एवं सचिव प्रेमा बत्र्वाल के नेतृत्व में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने एसडीएम ऊखीमठ को ज्ञापन सौंपकर 25 जनवरी को मतदाता दिवस पर बीएलओ ड्यूटी का बहिष्कार करने का निर्णय भी लिया है। वहीं, किसान सभा के प्रदेश उपाध्यक्ष राजाराम सेमवाल, प्रांतीय महामंत्री गंगाधर नौटियाल, जिलामन्त्री वीरेन्द्र गोस्वामी, अषाण सिंह ने भी तहसील परिसर ऊखीमठ पहुंचकर आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के आंदोलन को समर्थन दिया है। क्रमिक अनशन में बैठने वालों में संतोषी नेगी, सीमा नेगी, मीनाक्षी, अनीता, सुशीला शाह, कविता नेगी, सुनीता चौहान, सुरेशी रावत आदि मौजूद थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस