संवाद सहयोगी, पिथौरागढ़: विश्व फार्मासिस्ट दिवस जिला मुख्यालय में धूमधाम से मनाया गया। जिला चिकित्सालय में एकत्र हुए फार्मासिस्टों ने दवाओं के सुरक्षित उपयोग पर चर्चा की।

मुख्य अतिथि सेवानिवृत्त चीफ फार्मासिस्ट आरएस बिष्ट ने कार्यक्रम की शुरू आत की। उन्होंने इस वर्ष की थीम पर सबके लिए सुरक्षित और प्रभावी दवा पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि औषधियों के रखरखाव और गुणवत्ता बनाए रखने में फार्मासिस्ट की भूमिका बेहद महत्वपूर्ण है। वरिष्ठ फार्मासिस्ट पीके जोशी ने एंटीबायोटिक दवाओं के शरीर पर पड़ने वाले प्रभाव और ओवर डोज से होने वाले नुकसान के बारे में विस्तार से जानकारी दी। चीफ फार्मासिस्ट आरएस अधिकारी ने कहा कि दवाओं की खुराक बेहद महत्वपूर्ण है। इस पर विशेष ध्यान दिया जाना चाहिए। इस अवसर पर सेवानिवृत्त फार्मासिस्ट जेके पंत, पीसी जोशी, जिला मंत्री पीएल वर्मा, डीसी उप्रेती, टीएस तोमर, कैलाश जोशी, नीलम जोशी, विपिन पंत, गिरीश जोशी, आरएस मेहता, कविता वर्मा, योगिता चंद, धीरा मर्तोलिया, गोपाल बिष्ट, प्रदीप खड़ायत, संजय बोरा, प्रवीण चौधरी, सुनील नाथ, संजय कुमार ने विचार व्यक्त किए। इससे पूर्व मुख्य अतिथि को स्मृति चिंह प्रदान कर सम्मानित करने के साथ ही नव नियुक्त फार्मासिस्ट गिरवर सिंह, भक्त बहादुर क्षेत्री का माल्यार्पण कर स्वागत किया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप