संवाद सहयोगी, पिथौरागढ़: महिला चिकित्सालय में स्थायी रेडियोलॉजिस्ट नहीं होने गर्भवती महिलाओं खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। बुधवार को लगे साप्ताहिक शिविर में अल्ट्रासाउंड मशीन के खराब होने से अल्ट्रासाउंड नहीं हो पाए। इसके बाद जिला चिकित्सालय में अल्ट्रासाउंड किए गए। जहां 110 महिलाओं के अल्ट्रासाउंड किए गए।

महिला चिकित्सालय में स्थायी रेडियोलॉजिस्ट का पद विगत ढाई वर्षों से रिक्त चल रहा है। जिस कारण यहां लोहाघाट सीएचसी से अस्थाई रेडियोलॉजिस्ट की व्यवस्था की गई है। जिनके द्वारा सप्ताह में एक दिन बुधवार को पिथौरागढ़ महिला चिकित्सालय में अपनी सेवाएं दी जाती हैं। बुधवार को रेडियोलॉजिस्ट डॉ. एलएम रखोलिया सुबह ही महिला चिकित्सालय पहुंच गए। महिलाएं भी सुबह ही पहुंच गई थीं। डॉ. रखोलिया द्वारा प्रात: साढ़े नौ बजे से अल्ट्रासाउंड शुरू किया गया। इस बीच अल्ट्रासाउंड मशीन में अचानक खराबी आ गए। इससे अल्ट्रासाउंड कार्य बाधित हो गया। इसके बाद डॉ. रखोलिया द्वारा अपराह्न 12 बजे जिला चिकित्सालय में अल्ट्रासाउंड किया गया। देर सांय तक चले अल्ट्रासाउंड में 110 महिलाओं के अल्ट्रासाउंड किए गए। हालांकि एक दर्जन से अधिक महिलाओं को अल्ट्रासाउंड नहीं होने से निराश होकर वापस लौटना पड़ा। अल्ट्रासाउंड कराने जिला मुख्यालय समेत मुनस्यारी, धारचूला, बेरीनाग आदि क्षेत्रों से महिलाएं पहुंची थीं। शिविर को सफल बनाने में ललित साह, गोदावरी देवी, हेमलता बिष्ट आदि ने सहयोग प्रदान किया।विजय उप्रेती

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस