संसू, गणाईगंगोली (पिथौरागढ़): सरकारी व्यवस्था के ढर्रे से लगता है कि गणाईगंगोली तहसील के कोटली गांव में ग्राम प्रधान के चुनाव नहीं हो पाएगा। गांव में प्रधान पद ओबीसी महिला के लिए आरक्षित किया गया है, लेकिन पूरे गांव में महिला ओबीसी है ही नहीं। इधर, प्रशासन जानकर भी आरक्षण बदलने को तैयार नहीं है और दूसरी बार तिथि घोषित कर दी गई है।

कोटली ग्राम पंचायत में ग्राम प्रधान का पद ओबीसी महिला के लिए आरक्षित है। अक्टूबर में कराए गए पंचायत चुनाव से पहले ही ग्रामीणों ने निर्वाचन महकमे को अवगत करा दिया था कि गांव में ओबीसी की कोई महिला इस पद के लिए उपलब्ध ही नहीं है। इसे देखते हुए आरक्षण बदला जाए, लेकिन प्रशासन ने नहीं सुनी और गांव में ग्राम प्रधान का चुनाव नहीं हो पाया। सीट रिक्त चली गई। रिक्त सीटों पर चुनाव के लिए दूसरी बार 19 दिसंबर को वोट पड़ेंगे, 11 दिसंबर को नामांकन कराया जाएगा। गांव में 459 मतदाता हैं। लेकिन इस सीट पर आरक्षण में कोई बदलाव नहीं हुआ है। ग्रामीण परेशान हैं। ग्रामीणों का कहना है कि जब पहले ही प्रत्याशी नहीं मिला तो अब कहां से मिल जाएगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस