झूलाघाट (पिथौरागढ़), जेएनएन : पूरी तरह नेपाल के ग्राहकों पर आश्रित झूलाघाट के व्यापारियों ने केंद्र और राज्य सरकार पर व्यापारियों की अनदेखी का आरोप लगाते हुए अंतरराष्ट्रीय झूला पुल पर प्रदर्शन किया। इस अवसर पर सोशल मीडिया के माध्यम से प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजा।

प्रदर्शन करते हुए व्यापारियों ने कहा कि झूलाघाट बाजार नेपाल पर निर्भर है। मार्च माह से भारत नेपाल सीमा बंद है। व्यापार पूरी तरह ठप है। अधिकांश व्यापारी किराए के मकान और दुकान चलाते हैं उनके सम्मुख अब किराए देने का संकट पैदा हो चुका है। अधिकांश व्यापारियों द्वारा बैंक से कर्ज लिया गया है। उनके सम्मुख अब बैंक ऋण की किश्त चुकाना तक मुश्किल हो गया है। जिसके चलते व्यापारी आर्थिक तंगी के चलते मानसिक तनाव झेल रहे हैं। व्यापारियों ने भारत नेपाल सीमा नहीं खुलने तक सरकार से बैंक ऋण के ब्याज में छूट देने की मांग की। साथ ही पुल के नहीं खुलने तक व्यापारियों को आर्थिक मदद देने की मांग की गई ।

प्रदर्शन करने वालों में व्यापार मंडल अध्यक्ष जगदीश जोशी, कोषाध्यक्ष दीपक, सचिव लवदेव भट्ट, दिनेश गड़कोटी, मोहन भट्ट, विक्की भट्ट, राजेंद्र प्रसाद भट्ट, नीरज पंत, किशन चंद, धर्मानंद पंत, ज्वाला दत्त शर्मा, प्रकाश डिक्टिया, तिलक चंद,जगदीश भट्ट, दिनेश भट्ट, सुरेश ओली शामिल थे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस