थल, जेएनएन : लॉकडाउन पीरियड के टैक्स में पेनाल्टी लगाए जाने से क्षेत्र के टैक्सी चालक भड़क गए हैं। चालकों ने परिवहन विभाग के खिलाफ प्रदर्शन कर पेनाल्टी वापस लिए जाने की मांग की। पेनाल्टी वापस नहीं लिए जाने पर चालकों ने उग्र आंदोलन की चेतावनी दी है।

मार्च से जून माह तक लॉकडाउन के दौरान टैक्सियों का संचालन ठप रहा। चालकों को कोई आमदनी नहीं हुई। चालकों की परेशानी को देखते हुए सरकार ने लॉकडाउन काल के टैक्स को जमा करने के लिए समय सीमा में छूट दी थी। अब जब टैक्सी चालक आनलाइन टैक्स जमा कर रहे हैं तो टैक्स के साथ पेनाल्टी भी दर्शायी जा रही है। इससे चालक आक्रोश में हैं।

चालकों ने शनिवार को डीडीहाट टैक्सी स्टैंड पर एकत्र होकर परिवहन विभाग के खिलाफ प्रदर्शन किया। चालकों ने सवाल उठाते हुए कहा कि लॉकडाउन पीरियड में टैक्सियों का संचालन नहीं हुआ। आज भी चालक किसी तरह अपनी गुजर बसर कर रहे हैं। सरकार ने टैक्स जमा करने के लिए समय सीमा में छूट दी थी, लेकिन अब परिवहन विभाग टैक्स पर पेनाल्टी लगाकर आर्थिक रू प से कमजोर चालकों को परेशान कर रहा है। चालकों ने शीघ्र पेनाल्टी वापस लिए जाने की मांग करते हुए कहा कि पेनाल्टी वापस नहीं ली गई तो वे उग्र आंदोलन को बाध्य होंगे। प्रदर्शन करने वालों में दीपक भैंसोड़ा, डब्बू कार्की, पूरन कन्याल, सुरेश चंद, चतुर सिंह धामी, सुरेश रजवार, दिनेश सत्याल, त्रिभुवन सत्याल आदि शामिल थे।

इधर एआरटीओ नवीन सिंह ने कहा है कि अभी मामला जानकारी में नहीं आया है। चालकों की समस्याओं का समाधान किया जाएगा।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस