संवाद सूत्र, डीडीहाट: डीडीहाट जिले की मांग को लेकर आगामी एक अक्टूबर से प्रस्तावित आमरण अनशन कार्यक्रम को लेकर बैठकों का दौर जारी है। आंदोलनकारी हर रोज बैठक कर आंदोलन की रणनीति को अंतिम रू प देने में जुटे हुए हैं। इस आंदोलन में युवाओं की भी बढ़-चढ़कर भूमिका रहने वाली है। आंदोलन को सफल बनाने में युवाओं की नई कार्यकारिणी भी गठित कर ली गई है।

रविवार को स्थानीय रामलीला मैदान में हुई डीडीहाट जिला बनाओ संघर्ष समिति की बैठक में प्रवीण कन्याल के नेतृत्व में 100 से अधिक युवाओं ने पहुंचकर आगामी एक अक्टूबर से होने वाले आमरण अनशन का पूर्ण समर्थन करने की बात कही। इस दौरान युवा मोर्चा जिला डीडीहाट की नई कार्यकारिणी गठित की गई। जिसमें सर्वसम्मति से प्रवीण कन्याल को संरक्षक, योगेश योगी महामंत्री चुना गया। वहीं, विपेंद्र रावत उपाध्यक्ष, राजेंद्र सिंह बोरा उपसचिव, पंकज खड़ायत संगठन मंत्री, रोहित टोलिया सूचना मंत्री, विजय जेठी प्रचार मंत्री, मनोज सह प्रचार मंत्री, सदस्य गौरव जोशी, प्रहलाद कन्याल, दीपक डसीला को नियुक्त किया गया। मुख्य सूचना मंत्री पद पर गोकुल कन्याल, मुख्य एडिटर विक्की कन्याल को चुना गया। सभी युवा पदाधिकारी तीन दिन तक अन्न त्याग कर केवल जल का सेवन कर जिला बनाओ की मुहिम में आमरण अनशन को समर्थन देंगे। ======== सस्ता गल्ला विक्रेताओं ने दी आंदोलन तेज करने की चेतावनी

चम्पावत : सरकारी सस्ता गल्ला विक्रेताओं ने 30 हजार रुपया मासिक मानदेय देने की मांग की है। रविवार को उन्होंने बैठक का आयोजन कर विक्रेताओं की विभिन्न समस्याओं पर चर्चा की। कहा कि पांच सूत्रीय मांगों को लेकर वे लंबे समय से संघर्ष कर रहे हैं। शीघ्र मांगें नहीं मानी गई तो आंदोलन तेज किया जाएगा। अध्यक्ष भरत राम के नेतृत्व में हुई बैठक में गल्ला विक्रेताओं ने 30 हजार मासिक मानदेय देने, वन नेशन वन कार्ड लागू होने से पूर्व लाभाश व भाड़े में बढ़ोतरी करने, स्टेशनरी का खर्च व दुकान का किराया देने, राशन तौल कर देने और गल्ला विक्रेताओं का जीवन बीमा करने की माग की। वक्ताओं ने कहा कि इन मागों को लेकर प्रदेश भर के सस्ता गल्ला विक्रेता कार्य बहिष्कार पर हैं। कहा किजब तक उनकी माग पूरी नहीं हो जाती वे राशन वितरण नहीं करेंगे। इस दौरान गल्ला विक्रेताओं ने राशन वितरण के कार्य में आ रही अन्य समस्याओं पर भी चर्चा की। बैठक में दीवान सिंह, नारायण दत्त, चिंतामणी, हरिदत्त, रमेश जोशी, चंदन सिंह, प्रहलाद सिंह, श्याम सिंह, लोकमणी, पुष्कर दत्त, सीता देवी, भाष्कर गौड़, गोपाल सिंह, बलवंत सिंह, महेंद्र सिंह, बालादत्त, प्रेम सिंह, कालू सिंह, नवीन राम, पंकज साह आदि मौजूद रहे।

Edited By: Jagran