संवाद सहयोगी, पिथौरागढ़: जिला मुख्यालय में चल रही रामलीला अब अंतिम चरण में पहुंच गई है। नौवें दिन सदर रामलीला में लक्ष्मण-मेघनाद युद्ध सहित विभिन्न प्रसंगों का मंचन हुआ। टकाना में चल रही रामलीला में वनवास के प्रसंग मंचित किए गए।

गुरुवार को अंगद के भगवान राम के दूत के रू प में लंका पहुंचने और रावण को समझाने के प्रसंग से लीला शुरू हुई। अंगद और रावण संवाद का मंचन बेहद सराहनीय रहा। अंगद के रू प में कौशल भट्ट और रावण दीपक खन्ना ने सधा हुआ अभिनय कर खूब वाहवाही बटोरी। इसके बाद लक्ष्मण- मेघनाद युद्ध, लक्ष्मण शक्ति, सुसैन वैद्य की सलाह पर हनुमान के हिमालय पहुंचकर संजीवनी पहाड़ लाने, संजीवनी से लक्ष्मण की मूर्छा खत्म होने तक की लीला का मंचन हुआ। मेघनाद की भूमिका पंकज बिष्ट, सुसैन वैद्य की भूमिका सीबी जोशी, लक्ष्मण की भूमिका पीयूष ने निभाई। दर्शक देर रात तक मंचन देखने के लिए डटे रहे। रामलीला कमेटी के राकेश साह ने बताया कि शुक्रवार को रावण वध का मंचन होगा और पुतला कमेटी द्वारा तैयार पुतले जलाए जाएंगे।

उधर टकाना रामलीला में बनवास और आगे के प्रसंग मंचित किए गए। यहां भी रामलीला देखने के लिए बड़ी संख्या में दर्शक मौजूद रहे। ======= मैं तो छोड़ आई लंका का राज ओ लखन तेरे लिए..

बेरीनाग/गंगोलीहाट: जिला मुख्यालय के साथ ही गंगोलीहाट व बेरीनाग में भी रामलीला मंचन की धूम मची हुई है। गंगोलीहाट में महाकाली के दरबार में चल रही रामलीला के चौथे दिन राम, लक्ष्मण, सीता का वनवास का मंचन किया गया है। वहीं, बेरीनाग में लक्ष्मण द्वारा सूर्पणखा का नासिका छेदन का मंचन किया गया। पर्यटन नगरी चौकोड़ी में भी रामलीला का मंचन जारी है।

बेरीनाग में नागदेव रामलीला कमेटी के तत्वावधान में चल रही रामलीला के आठवें दिन के मंचन का शुभारंभ मुख्य अतिथि पूर्व विधायक नारायण राम आर्य, विशिष्ट अतिथि ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष दीपक नेवलिया व जिला उपाध्यक्ष कैलाश चनियाल ने संयुक्त रू प से दीप प्रज्वलित कर किया। उन्होंने मर्यादा पुरुषोत्तम राम व जगत जननी सीता के आदर्शों को जीवन में उतारने की बात कही। उधर, पर्यटन नगरी चौकोड़ी जयश्री मूल नारायण रामलीला कमेटी की ओर से आयोजित रामलीला के आठवें रोज मुख्य अतिथि क्षेत्रीय विधायक मीना गंगोला शामिल रहीं।

गंगोलीहाट: श्री महाकाली रामलीला कमेटी की ओर से महाकाली के दरबार में चल रही रामलीला के चौथे दिन कैकेयी-दशरथ संवाद, राम सीता संवाद, राम-सुमित्रा संवाद से लेकर राम, लक्ष्मण व सीता का वनवास जाने तक का मंचन हुआ। इस मौके पर एनसीसी कमांडर दया कृष्ण बेरी, भारतीय रेलवे बोर्ड की सदस्य गीता ठाकुर सहित आदि गणमान्य मौजूद रहे। संचालन शिक्षक बिरेंद्र द्वारा किया जा रहा है। कमेटी अध्यक्ष हेमराज राल ने सभी अतिथियों का स्वागत किया।

Edited By: Jagran