पिथौरागढ़, जेएनएन : गर्मी का सीजन शुरू होने से पहले ही नगर में पेयजल की दिक्कत शुरू हो गई है। नगर के लोगों को तीसरे दिन मात्र आधे घंटे पानी मिल रहा है। आंवलाघाट पेयजल योजना में फिर फाल्ट आ गया है, लेकिन विभाग के अधिकारी इस समस्या पर पर्दा डालने में लगे हुए हैं।

पिछले एक सप्ताह से नगर की पेयजल आपूर्ति बुरी तरह लड़खड़ाई हुई है। 75 करोड़ की लागत से बनाई गई आंवलाघाट पेयजल योजना से नगर में पर्याप्त पानी नहीं पहुंच पा रहा हैं। जिसके चलते नगर के थाना क्षेत्र, पितरौटा, नगरपालिका, टकाना आदि क्षेत्रों में पेयजल की आपूर्ति नहीं हो रही है। पितरौटा क्षेत्र के लोगों ने बताया कि तीन दिन में मात्र आधे घंटे पानी की आपूर्ति मिल रही है। अभी गर्मियां शुरू नहीं हुई हैं और अभी से पेयजल का संकट गहराने लगा है। नलों में पानी नहीं आने से लोगों को प्राकृतिक जल स्रोतों की शरण लेनी पड़ रही है। पेयजल की आपूर्ति नहीं होने से लोगों में गहरा आक्रोश पनप रहा है।

जल संस्थान के अधिशासी अभियंता अशोक कुमार ने बताया कि आंवलाघाट से पानी की पर्याप्त आपूर्ति नहीं होने से पेयजल वितरण में दिक्कत आ रही हैं। इस संबंध में जल निगम से पूछने पर बताया कि आंवलाघाट में कुछ दिक्कत आ रही है। इसे जल्द ठीक कर लेने का भरोसा निगम ने दिया है। =========== एक ओर पेयजल संकट दूसरी और लिकेज पिथौरागढ़: नगर के एक हिस्से को जहां पेयजल संकट से जूझना पड़ रहा है तो दूसरी ओर सिल्थाम और महात्मा गांधी क्षेत्र में पेयजल लिकेज की समस्या गंभीर हो गई है। पेयजल वितरण लाइनें क्षतिग्रस्त होने सड़कों पर पानी बह रहा है। कई बार शिकायत करने के बाद भी जल संस्थान मूक दर्शक बना हुआ है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस