संवाद सूत्र, बरम पिथौरागढ़ : पिथौरागढ़ जिले के बरम में पति की मौत के बाद आर्थिक तंगी से जूझ रहे एक परिवार के लिए 12 रुपये की प्रधानमंत्री बीमा योजना बेहद मददगार साबित हुई। परिवार को बैंक से दो लाख रुपये की बीमा राशि बुधवार को मिल गई। इस धनराशि से बीपीएल परिवार की जिंदगी की गाड़ी पटरी पर लौट आने की उम्मीद है।

बीते अगस्त माह में धारचूला निवासी मोतीराम गांव में जलाने के लिए पेड़ से लकडि़यां काट रहा था। पैर फिसल जाने से वह जमीन पर आ गिरा और उसकी मौत हो गई। मोतीराम का परिवार बीपीएल की श्रेणी में है। उनके निधन से परिवार के समक्ष गंभीर आर्थिक संकट खड़ा हो गया।

मोतीराम ने ग्रामीण बैंक की बरम शाखा में खाता खोला था, जिसमें नाममात्र की ही बचत राशि थी, लेकिन मोतीराम ने 12 रुपये में प्रधानमंत्री बीमा योजना का लाभ लिया हुआ था। बैंक प्रबंधक संजय परिहार को मोतीराम की मौत की जानकारी मिली तो उन्होंने उसके खाते की जांच की। जांच में पता चला कि मोतीराम ने 12 रुपये का बीमा लिया हुआ है।

उन्होंने उनकी पत्नी आनंदी देवी से संपर्क कर बीमा दावा इंश्योरेंस कंपनी के समक्ष रखा। इंश्योरेंस कंपनी ने दावे की पड़ताल कर दो लाख रुपये की धनराशि बैंक को दी। बैंक प्रबंधक संजय परिहार ने बुधवार को आनंदी देवी को दो लाख का चेक प्रदान किया। आंनदी देवी ने बैंक प्रबंधक का आभार जताया। उन्होंने कहा कि यह धनराशि उनके परिवार की जिंदगी को पटरी पर लाने में सहायक होगी।

वाहन के अतिरिक्त अन्य दुर्घटनाओं में भी मिलता है लाभ

प्रधानमंत्री बीमा दुर्घटना बीमा योजना में केवल वाहन दुर्घटना का ही बीमा कवर नहीं मिलता, बल्कि अन्य दुर्घटनाओं में भी बीमा का लाभ मिलता है। ग्रामीण बैंक की बरम शाखा के प्रबंधक संजय परिहार ने बताया कि अन्य दुर्घटनाओं में भी इस योजना का लाभ मिलता है। बरम शाखा ने मोतीराम को पैर फिसलने से हुई मौत पर बीमा का लाभ दिया है। बैंक के बिजनेस कारसपोंडेंट प्रेम परिहार ने बताया कि लोगों को गांव-गांव जाकर इस योजना की जानकारी दी जा रही है।

Edited By: Skand Shukla

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट