पिथौरागढ़, जागरण संवाददाता। वर्ष 2023 तक चीन सीमा तक सड़क पहुंचाने का लक्ष्य हर हाल में पूरा करने के लिए बीआरओ ने कमर कस ली है। इस वर्ष शीतकाल में शून्य डिग्री तापमान पर भी सड़क निर्माण का काम नहीं रोका जाएगा। मजदूरों को ठंड से बचाने के लिए उच्च हिमालय क्षेत्र में फाइबर हट बनाने का कार्य शुरू हो गया है। 

फाइबर हट की सामग्री उच्च हिमालय में पहुंचाने के लिए चिनूक हेलीकाप्टर तैनात किए गए हैं। उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले की धारचूला और मुनस्यारी तहसीलों की सीमा चीन की सीमा से लगी हुई है। चीन भारतीय सीमा तक पहले ही सड़क का निर्माण करा चुका है। 

61 किलोमीटर की सड़क का हो रहा निर्माण

भारत ने भी धारचूला तहसील के अंतर्गत चीन सीमा तक तवाघाट- लिपूलेक सड़क का निर्माण वर्ष 2020 में पूरी करा लिया है। भारत मुनस्यारी तहसील मुख्यालय से मिलम तक 61 किलोमीटर सड़क का निर्माण करा रहा है। विषम भौगोलिक परिस्थिति वाले इस क्षेत्र में सड़क का कटान बेहद मुश्किल कार्य है। 

शून्य डिग्री में सामान्य घर में रहना मुश्किल

वर्ष 2017 में शुरू हई इस सड़क को वर्ष 2023 में पूरा कर लेने का लक्ष्य रखा गया है। सड़क को मिलम और मुनस्यारी दोनों क्षेत्रों से काटा जा रहा है। मुनस्यारी क्षेत्र में दिसंबर के बाद ऊंचाई वाले इलाकों में रात में तापमान शून्य डिग्री से नीचे पहुंच जाता है। इन हालत में रात में सामान्य घरों में रहना काफी मुश्किल हो जाता है। 

फाइबर हटों में नहीं होगी परेशानी

बीआरओ ने अपने मजदूरों को इस समस्या से बचाने के लिए अब उच्च हिमालय में फाइबर हट बनाने का फैसला लिया है। फाइबर हटों के भीतर तापमान सामान्य बना रहेगा, जिससे मजदूरों को रात में परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा। 

सड़क निर्माण का सामान पहुंचाया जा रहा

शीतकाल में भारी बर्फवारी को छोड़कर शेष दिनों में बीआरओ अपना काम जारी रखेगा। इन दिनों मुनस्यारी से चिनूक हेलीकाप्टर के जरिए फाइबर हट की सामग्री के साथ ही सड़क निर्माण का अन्य सामान भी उच्च हिमालय में पहुंचाया जा रहा है। मजदूरों के लिए पर्याप्त रसद भी शीतकाल से पहले उच्च हिमालय में जमा कर ली जाएगी।

अधिकारी बोले…

बीआरओ के ओसी आर.गणपति ने कहा, मुनस्यारी- मिलम सड़क बनाए जाने का कार्य तेजी से चल रहा है। निर्धारित समय पर सड़क का काम पूरा करने के लिए पूरे प्रयास किए जा रहे हैं। शीतकाल में भी काम जारी रखने के लिए तैयारियां की जा रही हैं।

Edited By: ramesh garkoti

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट