जागरण संवाददाता, पिथौरागढ़ : पुलिस ने बड़ी संख्या में अवैध गर्भपात किट बरामद किया। सप्लायर बिल और ऑर्डर की कॉपी भी नहीं दिखा सका। ऐसे में किट के साथ ही सप्लाई वाहन को सीज कर जांच शुरू कर दी गई। मामले में बरेली निवासी तीन लोगों से पुलिस ने पूछताछ की तो किट का कनेक्शन हल्द्वानी से जुड़ा मिला।

सोमवार देर शाम पुलिस को अवैध किट सप्लाई की सूचना मिली। इस पर स्थानीय अभिसूचना इकाई (एलआइयू) निरीक्षक केके पाठक के नेतृत्व में टीम ने नगर के चिमिस्यानौला की तरफ से आ रहे वाहन को थाना गेट के पास रोक लिया। उसमें आठ सौ गर्भपात किट मिला। इस बीच वाहन में मौजूद रंजीत सिंह निवासी बीडीए कॉलोनी बंदायू रोड करगैना थाना सुभाषनगर बरेली, अमित जैन निवासी कालाबाड़ी थाना बारादरी बरेली, जसवंत सिंह देऊपा मूल निवासी बिचकोट अटलगांव डीडीहाट हाल निवासी कटरा चांद खां थाना बारादरी बरेली उत्तर प्रदेश से पुलिस ने पूछताछ की। उन्होंने बताया कि वे एक सोसायटी में कार्य करते हैं, जिसका मुख्यालय पटना बिहार में है। दवा का स्टॉकिस्ट हल्द्वानी में है। वहीं से किट लाया जा रहा है।

कोतवाली प्रभारी ओपी शर्मा ने बताया कि गर्भपात किट और वाहन सीज कर दिया गया है। नैनीताल की ड्रग इंस्पेक्टर मीनाक्षी बिष्ट के पास जिले का चार्ज है। उन्हें इसकी सूचना दे दी गई है।

-------------

लिंगानुपात ने बढ़ाई चिंता

जिले में लिंगानुपात की स्थिति चिंताजनक है। ऐसे में पूरा तंत्र बेटी बचाने में जुटा है। इसका असर भी दिख रहा है। इस बीच गर्भपात किट बरामद होना अभियान पर सवाल उठा रहा है।

------------------

पिथौरागढ़ का बुरा हाल

उत्तराखंड लिंगानुपात के मामले में देश के शीर्ष पाच राज्यों में अपनी जगह बनाई है। लेकिन कुमाऊं के चम्पावत, पिथौरागढ़ की हालत सही नहीं है। स्वास्थ्य मंत्रालय के हेल्थ मैनेजमेंट इन्फॉर्मेशन सिस्टम के अनुसार पिथौरागढ़ में लिंगानुपात प्रति एक हजार 906 है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस