पिथौरागढ़, जागरण संवाददाता। प्रदेश के परिवहन मंत्री चंदन राम दास ने कहा है कि पर्वतीय क्षेत्र में कोरोना काल के दौरान बंद हुए सभी रूटों पर शीघ्र रोडवेज बसों का संचालन शुरू कर दिया जाएगा। पिथौरागढ़ भ्रमण के दौरान मीडिया से बातचीत में परिवहन मंत्री ने कहा कि प्रदेश में टायरों की दिक्कत के चलते बंद पड़ी बस सेवाओं को सुचारू कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि यूपी के साथ परिसंपत्तियों के बंटवारे में 100 करोड़ की धनराशि उत्तराखंड को मिल गई है। 

इसके अलावा, 300 करोड़ की धनराशि एडीबी से मिलनी है। इस धनराशि से 150 इलेक्ट्रिक और 30 सीएनजी बसें खरीदी जानी हैं। इन बसों का संचालन मैदानी क्षेत्रों में किया जाएगा। मैदानी क्षेत्रों से हटने वाली 180 बसों को पर्वतीय जनपदों में भेजकर कोरोना काल से बंद पड़े रूटों पर संचालित किया जाएगा। इससे बड़ी आबादी को सार्वजिनक परिवहन की सुविधा मिलने लगेगी। 

उन्होंने कहा कि रोडवेज की व्यवस्थाओं को पटरी पर लाने के लिए सभी जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं। शीघ्र ही प्रदेश की जनता को परिवर्तन दिखने लगेगा।

एक पखवाड़े के भीतर हल हो जाएगी कुमाऊं के टैक्सी चालकों की परमिट संबंधी समस्या

पिथौरागढ़। कुमाऊं क्षेत्र एटैक्सी संचालकों की परमिट संबंधी समस्या एक पखवाड़े के भीतर हल हो जाएगी। प्रदेश के परिवहन मंत्री चंदन राम दास ने टैक्सी यूनियन को यह भरोसा दिया है। 

जनपद भ्रमण पर पहुंचे परिवहन मंत्री चंदन राम दास के सामने परमिट संबंधी समस्या रखते हुए टैक्सी संचलकों ने कहा कि परमिट नवीनीकरण सहित कुमाऊं मंडल के टैक्सी चालकों को गढ़वाल में वाहन भेजने और नौ वर्ष बाद परमिट हस्तांतरण में तमाम दिक्कतें आ रही हैं। टैक्सी यूनियन पदाधिकारियों ने कहा कि पूर्व में भी समस्याओं को लेकर ज्ञापन दिया गया था, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। 

परिवहन मंत्री ने मौके से ही अपर आयुक्त परिवहन से वार्ता की और एक पखवाड़े के भीतर कुमाऊं क्षेत्र के टैक्सी संचालकों की परमिट संबंधी समस्याओं का समाधान करने के निर्देश दिए। परिवहन मंत्री ने टैक्सी संचालकों से कहा कि एक पखवाड़े के भीतर उनकी समस्याएं हल कर ली जाएंगी। चालकों ने परिवहन मंत्री का आभार जताया।

Edited By: ramesh garkoti

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट