संवाद सहयोगी, पिथौरागढ़: 18 सूत्रीय मांगों को लेकर अधिकारी- कर्मचारी-शिक्षक समन्वय समिति ने बुधवार को उद्यान विभाग परिसर में प्रदर्शन कर आक्रोश जताया। समिति ने 20 सितंबर को कार्य बहिष्कार का एलान किया है।

उद्यान विभाग परिसर में प्रदर्शन करते हुए कर्मचारियों ने कहा कि गोल्डन कार्ड की विसंगति दूर करने, पुरानी पेंशन योजना बहाल करने सहित 18 सूत्रीय मांगें उठा रहे हैं। कई मांगों पर सरकार के साथ समझौता भी हो चुका है, लेकिन आज तक समझौते को लागू नहीं किया गया है। सरकार समझौते को लागू न कर कार्मिकों की उपेक्षा कर रही है, जिसे अब बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। अधिकारी-कर्मचारी-शिक्षक समन्वय समिति इन मांगों को लेकर आंदोलन कर रही है। 20 सितंबर को कार्य बहिष्कार किया जाएगा। इसके बाद भी सरकार मांगों को पूरा नहीं करती है तो समिति आंदोलन को उग्र करने के लिए मजबूर होगी। प्रदर्शन करने वालों में चंद्रशेखर भट्ट, बिजेंद्र लुंठी, रोहित उप्रेती, निर्मला तिवारी, भावना धामी, हेमंत जोशी, मनोज मेहरा, संतोष धामी, भगवान बोहरा, वंदना भट्ट, नीरज चंद, आनंद रफाल, एससी पंत, आरएस खनका, कैलाश उपाध्याय, जितेश पंत, एमएल वर्मा, रश्मि उप्रेती, मोहनी भैसोड़ा आदि शामिल थे। ======== समझौते पर कोई कार्रवाई नहीं होने पर विद्युत कर्मियों में आक्रोश

डीडीहाट: उत्तराखंड सरकार के साथ विगत 27 जुलाई को हुए समझौते पर अभी तक कोई कार्रवाई नहीं किए जाने पर विद्युत अधिकारी कर्मचारी संयुक्त संघर्ष मोर्चा ने आक्रोश प्रकट किया है। मोर्चा ने विद्युत वितरण उपखंड में गेट मीटिंग कर सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। इस दौरान निर्णय लिया गया कि यदि 5 अक्टूबर तक समझौते को लागू नहीं किया गया तो समस्त विद्युत कर्मी 6 अक्टूबर से कार्य बहिष्कार शुरू कर देंगे। इस मौके पर नरेंद्र सिंह टोलिया, गिरीश चंद्र पांडे, कुंदन राम, संजय कुमार, देवेंद्र सिंह कन्याल, महिमन भड़, दीपक पंत, प्रदीप बिष्ट, दीपक कन्याल, महिपाल भड़, भवान भड़, जगदीश कोहली, अशोक पंत, प्रकाश अवस्थी आदि मौजूद रहे।

Edited By: Jagran