संवाद सूत्र, थल : अस्कोट-कर्णप्रयाग, पिथौरागढ़ -मुनस्यारी मार्ग किनारे स्थित थल कस्बे में आए दिन जाम लगने से जनता परेशान है। जाम के चलते जहां स्कूली बच्चे प्रभावित हो रहे हैं वही व्यापारी वर्ग भी परेशान है।

रामगंगा नदी के दोनों तरफ बसे थल कस्बा अस्कोट-कर्णप्रयाग और पिथौरागढ़-मुनस्यारी मार्ग पर स्थित है। यहां पर दोनों सड़के कस्बे में एक हो जाती हैं। सड़क के दोनों तरफ मकान और दुकान हैं, जिसके चलते सड़क संकरी हो चुकी है। दूसरी तरफ धारचूला, डीडीहाट से बेरीनाग, गंगोलीहाट, बागेश्वर, अल्मोड़ा , हल्द्वानी आने जाने वाले वाहन चलते हैं तो मुनस्यारी, तेजम, क्वीटी, नाचनी, बांसबगड़ से हल्द्वानी , अल्मोड़ा , बागेश्वर सहित मैदानी क्षेत्रों को आने जाने वाहन चलते हैं। धरमघर, कोटमन्या, पांखू, बेरीनाग से पिथौरागढ़, डीडीहाट की तरफ आने जाने वाले वाहन चलते हैं। इसके चलते यातायात का दबाव बना रहता है।

पार्किंग की कोई व्यवस्था नहीं होने के कारण सड़क किनारे खड़े वाहन जाम का कारण बन जाते हैं। वाहनों का अत्यधिक दबाव और पार्किंग नहीं हो पाने के कारण घंटो जाम लग जाता है। सोमवार को सुबह आठ बजे के आसपास जाम लग गया। जाम के लंबा होने के रामगंगा पुल के पास सड़क पर पैदल चलना भी मुश्किल हो गया। लगभग डेढ़ घंटे तक लगे जाम के चलते विद्यालय जा रहे बच्चे पैदल तक नहीं चल पाने से समय से विद्यालय पहुंच पाए और वहीं वाहनों से विद्यालय जाने वाले बच्चे भी फंसे रहे । जिसे लेकर लोगों में आक्रोश बना रहा। रोज जाम लगने पर व्यापार मंडल ने पुलिस और प्रशासन से कस्बे में पार्किंग व्यवस्था का सख्ती से पालन कराने की मांग की है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस