संवाद सूत्र, धारचूला: उच्च हिमालयी चीन सीमा से लगे गांवों का पहली बार किसी विधायक ने भ्रमण कर जन समस्याएं सुनी। पहली बार क्षेत्र में विधायक के पहुंचने पर ग्रामीणों ने पल्थी और फंाफर की रोटी और मूली के साग के साथ स्वागत किया। इस दौरान उच्च हिमालय में मार्ग बंद होने से झेल रहे कष्टों के बारे में बताया।

विस क्षेत्र धारचूला के चीन सीमा से लगे उच्च हिमालयी व्यास घाटी में जाकर ग्रामीणों की समस्याएं सुनने वाले हरीश धामी पहले विधायक बने हैं। दुर्गम क्षेत्र में पहली बार गांव आने वाले विधायक का ग्रामीणों ने जोरदार स्वागत किया। विधायक ने उच्च हिमालय की बूंदी, गब्र्याग, गुंजी, नपलच्यू, नाबी, रौंगकोंग और अंतिम गांव कुटी का भ्रमण किया। इस दौरान उन्होंने ग्रामीणों की मांग को देखते हुए सभी सात गांवों को प्रति गांव शौचालय निर्माण के लिए विधायक निधि से चार -चार लाख रु पए की धनराशि दी गई।

उच्च हिमालयी गांवों के ग्रामीणों ने बताया कि पूरा क्षेत्र संचार विहीन है। किसी तरह की बीमारी या फिर आपदा आने पर इसकी सूचना तहसील मुख्यालय नहीं दी जा सकती है। ग्रामीणों ने एपीएल का राशन प्रति परिवार दस किलो गेहूं और चावल के हिसाब से दिए जाने की मांग की गई। अपने भ्रमण के दौरान श्री धामी ने उरेड़ा विभाग द्वारा बूंदी , नपलच्यू और कुटी गांव में बनाई जा रही माइक्रोहाइडिल परियोजनाओं का निरीक्षण किया । तीनों स्थानों पर परियोजनाओं का कार्य मानकों के अनुसार नहीं किया गया है। पाइप नहीं लगाए गए हैं तार खेतों में डाल दिए गए हैं और अभी तक ठेकेदार द्वारा टरबाइन नहीं पहुंचाई गई है। विधायक ने इसकी शिकायत डीएम से करने की बात कही।

इस दौरान विधायक ने कैलास मानसरोवर यात्रा मार्ग में कालापानी और अंतिम भारतीय पड़ाव नावीढांग का भी निरीक्षण किया। ग्रामीणों ने बंद पड़े व्यास मार्ग को खुलवाने तथा बीआरओ द्वारा बनाई जा रही सड़क को लखनपुर से बूंदी तक पूर्ण करने की मांग रखी। ग्रामीणों ने बतया कि लखनपुर से थक्ती फॉल तक आठ किमी मार्ग पूरा कर इसे बूंदी तक मिलाया जाए तो इसका जनता को लाभ मिलेगा। इस अवसर पर बीआरओ के अधिकारियों के समक्ष भी यह मांग रखी गई। विधायक ने कहा कि पूर्व सीएम हरीश रावत के कार्यकाल में उच्च हिमालयी गांवों के लिए कई योजनाएं स्वीकृत थी और संचार की भी व्यवस्था की जा रही थी वर्तमान सरकार ने सभी कार्य रोक दिए हैं।

इस दौरान उनके साथ नृप सिंह गब्र्याल, ब्लॉक अध्यक्ष डूंगर सिंह दानू, नेत्र सिंह दरियाल,राजेश कुटियाल, रू प सिह, राजेश दरियाल, राम सिंह रोकाया थे। गुंजी गांव में प्रधान अर्चना गुंज्याल, पूर्व प्रधान जसमा देवी, दशरथी गुंज्याल, मंगल गुंज्याल, भीम सिंह , धरम सिंह आदि ने विधायक का स्वागत किया। विधायक ने यहां पर तैनात आइटीबीपी के जवानों और बीआरओ कर्मियों और मजदूरों से भेंट कर उनके हालचाल लिए।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस