संवाद सूत्र, धारचूला : भारत -नेपाल को जोड़ने वाले अंतरराष्ट्रीय पुल पर तैनात भारत के कस्टम विभाग और नेपाल के भंसार विभाग की कार्यप्रणाली से दोनों देशों के व्यापारी आक्रोशित हैं। इस संबंध में दोनों देशों के व्यापारियों की एक बैठक हुई। कस्टम और भंसार द्वारा दैनिक उपयोग की वस्तुओं पर रोक टोक करने पर रोष जताते हुए चर्चा की गई। नेपाल के दार्चुला वाणिज्य कार्यालय में आयोजित बैठक में कहा गया कि भारत से नेपाल जाने वाले खाद्य तेल पर तक रोक लगाई जा रही है। इस मौके पर निर्णय लिया गया कि दोनों देशों के व्यापार मंडल अपने अपने देश के कस्टम विभाग के अधिकारियों से मिल कर समस्या के बारे में बताएंगे । नेपाल के व्यापारियों ने बताया कि दार्चुला के जिलाधिकारी ने नेपाल के कस्टम विभाग को भारत से दैनिक उपयोग की वस्तुओं की लाने पर रोक नहीं लगाने को कहा गया है।

बैठक के बाद दोनों देशों के व्यापारी भारत के कस्टम विभाग के अधिकारियों से मिले और नेपाल से भारत को आने वाली दैनिक वस्तुओं को नहीं रोके जाने का अनुरोध किया गया। कस्टम विभाग ने इसके लिए व्यापारियों को आश्वस्त किया है। बैठक में व्यापार मंडल अध्यक्ष धारचूला वीएस थापा, महासचिव नवीन खर्कवाल, उपाध्यक्ष प्रकाश गुंज्याल, नंदन रौतेला, देवराज गब्र्याल, मनीष सूद, ओपी वर्मा, योगेश गब्र्याल, खुशाल सिंह धामी और नेपाल वाणिज्य संघ के वरिष्ठ उपाध्यक्ष मदन सिंह बूढ़ाथौकी, उपाध्यक्ष इंद्रदेव पंत, महासचिव मिलन राज अवस्थी, सचिव सर्वराज बड़ू उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप