जेएनएन, पिथौरागढ़ : महाशिवरात्रि पर्व पर गुरू वार को भारी बारिश के बावजूद जिले के शिव मंदिरों में सुबह से ही भक्तों का सैलाब उमड़ पड़ा। शिवालयों में श्रद्धालुओं की लाइन लगी रही। श्रद्धालुओं ने बारी-बारी से भोले का जलाभिषेक किया। इस दौरान शिव मंदिर ऊं नम: शिवाय, बम-बम भोले, हर हर महादेव के उद्घोष से गुंजायमान रहे।

जिला मुख्यालय में घंटाकरण स्थित शिव मंदिर, पुराना बाजार शिवालया, पांडेगांव शिव मंदिर, हुड़ेती महादेव मंदिर, सेरादेवल, चटकेश्वर, रई शिव गुफा, कपिलेश्वर महादेव, धमौड़ स्थित सिद्धेश्वर, बड़ाबे स्थित लटेश्वर, थलकेदार, ध्वज स्थित खंडेनाथ, असुरचुला आदि प्रमुख शिव मंदिरों में सुबह से ही भक्तों का आना शुरू हो गया। भक्तों ने भोले को गंगाजल, पंचामृत, दूध, भांग-धतुरा, फूल, बेर, तरु ड़, सकरकंद, बेलपत्री अर्पित कर सुख समृद्धि की कामना की। जिला मुख्यालय के नजदीकी कपिलेश्वर, लटेश्वर, रई गुफा में शिवरात्रि का मेला लगा। हालांकि बारिश के चलते मेले में भीड़-भाड़ कम ही देखने को मिली। श्रद्धालुओं ने नजदीक के शिवालयों में जाकर जलाभिषेक किया। शिवालयों में भगवान शिव के भजन गूंजते रहे।

थल: पौराणिक महत्व के ऐतिहासिक बालेश्वर महादेव मंदिर में भोले के दर्शनों के लिए दूर-दूर से श्रद्धालु पहुंचे। बारिश के बीच मंदिर में सुबह से ही भक्तों का आना शुरू हो गया। श्रद्धालुओं ने रामगंगा नदी में स्नान करने के बाद मंदिर में जलाभिषेक कर पूजा-अर्चना की। मेले में शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए थानाध्यक्ष प्रताप सिंह नेगी के नेतृत्व में पुलिस बल तैनात रहा। बेरीनाग: यहां तपेश्वर, कोटेश्वर, पुंगेश्वर, गुप्तेश्वर आदि शिव मंदिरों में गुरू वार तड़के से ही श्रद्धालु उमड़ पड़े। श्रद्धालुओं ने लाइन में लगकर भगवान शिव का रू द्राभिषेक किया। उधर, अस्कोट मल्लिकार्जुन मंदिर, डीडीहाट सिराकोट महादेव, गंगोलीहाट में पाताल भुवनेश्वर आदि जिले के सभी तहसीलों में स्थित शिव मंदिरों में श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस