संवाद सहयोगी, पिथौरागढ़: पिथौरागढ़ के सैन्य क्षेत्र में भारत-नेपाल सेना का संयुक्त युद्धाभ्यास जारी है। छठे दिन दोनों देशों के जवानों ने घने जंगलों में अपना युद्ध कौशल दिखाया। इस दौरान जवानों ने विषम परिस्थितियों में दुश्मनों से लोहा लेने के गुर सीखे। युद्धाभ्यास के बीच दोनों देशों के जवानों के मध्य मैत्री बास्केटबॉल मैच भी खेला गया।

ऑपरेशन सूर्यकिरण-15 नाम से चल रहे इस संयुक्त युद्धाभ्यास में दोनों देशों के जवान गजब का उत्साह दिखा रहे हैं। छठे दिन युद्धाभ्यास की शुरू आत दोनों देशों के जवानों के मध्य दोस्ताना बास्केटबॉल मैच के साथ हुई। इसके बाद युद्धाभ्यास में दोनों देशों की सैन्य टुकड़ियों ने आपरेटिंग बेस की स्थापना की और जंगल इलाके में युद्ध जीवन की बचत व अस्तित्व में अपने-अपने अनुभव साझा किए। इस दौरान जवानों ने घने जंगल के बीच आपरेशन चलाकर दुश्मनों से निपटने का अभ्यास किया और अपनी ताकत व क्षमता का प्रदर्शन भी किया। ======== सेना भर्ती की तैयारी कर रहे युवाओं ने मंदिर निर्माण में किया श्रमदान

डीडीहाट: तहसील क्षेत्र के प्रसिद्ध मलयनाथ स्वामी मंदिर के पुनर्निर्माण के लिए जेएमएस अकादमी में सेना भर्ती की तैयारी कर रहे युवाओं ने श्रमदान कर मिसाल पेश की है।

जनसहयोग से मलयनाथ स्वामी मंदिर का भव्य पुनर्निर्माण कार्य चल रहा है। सामाजिक कार्यकर्ता लवी कफलिया पिछले दो वर्ष से इसके लिए संसाधन जुटा रहे हैं। मंदिर की पहली छत के लिए शनिवार को कई क्विंटल सरिया पहुंचा तो मंदिर तक इसे पहुंचाने के लिए मजदूर कम पड़ गए। जेएमएस अकादमी में सेना भर्ती की तैयारियां कर रहे युवक और युवतियों को इसकी जानकारी मिलने पर वे श्रमदान में जुट गए। युवाओं ने पूरे दिन श्रमदान कर सरिया मंदिर परिसर तक पहुंचाई। कोच प्रवीण कन्याल ने युवाओं के इस प्रयास की सराहना की। उन्होंने कहा कि क्षेत्र के आराध्य मलयनाथ स्वामी मंदिर के लिए युवाओं की यह सेवा अन्य लोगों को भी प्रेरणा देगी।

Edited By: Jagran