पिथौरागढ़, जेएनएन : एनएच एक ओर राज्य स्थापना दिवस पर आलवेदर सड़क उद्घाटन की तैयारियां कर रहा है, दूसरी ओर पिथौरागढ़ जिले के अंतर्गत सड़क को तीसरी बार आंशिक रू प से बंद करने की तैयारी चल रही है। तीन सदस्यीय कमेटी ने सड़क की स्थिति देखने के बाद मार्ग को 15 दिनों के लिए बंद करने की सिफारिश की है।

तीन रोज पूर्व पिथौरागढ़ जिला मुख्यालय से 15 किमी. दूर गुरना के निकट चट्टान टूटने से एक कैंटर मलबे में दब गया। कैंटर के चालक और परिचालक की मौके पर ही मौत हो गई। एनएच के अधिकारियों ने घटना के बाद स्वीकार किया कि आधा दर्जन स्थल में अभी खतरा बना हुआ है।

बुधवार को जिलाधिकारी विजय कुमार जोगदंडे ने एनएच के अधिकारियों के साथ गुरना क्षेत्र का निरीक्षण किया। उन्होंने कटिंग के बाद कमजोर पड़ी चट्टानों को अविलंब हटाए जाने के निर्देश देते हुए कहा कि यात्रियों की सुरक्षा के पूरे प्रबंध किए जाए। एनएच के अधिकारियों ने दरार पड़ी चट्टानों को गिराने के लिए हाईवे को आंशिक रू प से बंद कराए जाने की मांग की। इस पर जिलाधिकारी ने एसडीएम (सदर) तुषार सैनी की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय कमेटी का गठन किया। कमेटी में ईई पीडब्लूडी और सीओ पिथौरागढ़ को शामिल किया गया। कमेटी ने निरीक्षण के बाद देर सायं अपनी रिपोर्ट तैयार की। एसडीएम सदर ने बताया कि गुरना क्षेत्र में स्थिति को देखते हुए एनएच को 15 दिन के लिए आंशिक रू प से बंद करने की सिफारिश की गई है। इसमें पहले दो दिन सुबह आठ बजे से सायं पांच बजे तक और शेष 13 दिन सुबह साढ़े आठ बजे से दोपहर ढाई बजे तक मार्ग बंद रखा जाएगा। सिफारिश पर अंतिम निर्णय जिलाधिकारी के स्तर पर लिया जाएगा। ====== इस हाल में कैसे होगा आलवेदर रोड का उद्घाटन पिथौरागढ़: पिथौरागढ- टनकपुर आलवेदर सड़क का शुभारंभ नौ नवंबर को किए जाने की चर्चाएं जोरों पर हैं। एनएच की ओर से कहा जा रहा है कि केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी सड़क का शुभारंभ करेंगे। पिथौरागढ़ में 15 दिन सड़क बंद की जाती है तो नौ नवंबर को उद्घाटन संभव नहीं होगा। टनकपुर से पिथौरागढ़ तक 150 किमी. लंबी सड़क का कार्य चार अलग-अलग चरणों में किया जा रहा है। किसी भी चरण में अभी शत प्रतिशत काम पूरा नहीं हुआ है। चारों ही चरणों में पांच से दस प्रतिशत तक काम बचा हुआ है। ======== मार्ग बंद हुआ तो दीपावली पर घर आने वालों को झेलनी पड़ेगी दुश्वारियां पिथौरागढ़: जिले से बाहर काम करने वाले लोग दीप पर्व मनाने के लिए घर आते हैं। नवंबर प्रथम सप्ताह से लोगों की घर वापसी शुरू हो जाएगी। मार्ग बंद हुआ तो घर आने वाले लोगों को खासी परेशानी झेलनी होगी। बाहर से लोग वाया थल होते ही जिले में पहुंच सकेंगे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस