संवाद सूत्र, मुनस्यारी: चीन से लगे सीमा क्षेत्र में भारी बर्फवारी के कारण कुछ दिनों से ठप सड़क निर्माण का कार्य शुक्रवार से फिर युद्धस्तर पर शुरू हो गया है। निचले इलाके में डामरीकरण और ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फ हटाए जाने का काम तेजी से किया जा रहा है। उच्च हिमालय क्षेत्र में मार्ग बंद होने के चलते जवानों और मजदूरों के लिए शुक्रवार को हेलीकाप्टर से रसद पहुंचाई गई। मुनस्यारी हेलीपेड से हेलीकाप्टरों ने रसद पहुंचाने के लिए कई उड़ान भरी।

मुनस्यारी से चीन सीमा के नजदीक मिलम तक सड़क बनाए जाने का काम चल रहा है। धारचूला तहसील के अंतर्गत लिपुलेख तक सड़क का निर्माण पूरा हो जाने के बाद अब मुनस्यारी से भी सीमा तक सड़क पहुंचाने का काम प्राथमिकता में रखा गया है। प्रतिकूल मौसम में भी सीमा सड़क संगठन के जवान और मजदूर सड़क निर्माण के काम में जुटे हुए हैं। पिछले दिनों हुई भारी बर्फवारी के चलते काम रोकना पड़ा था। शुक्रवार को मौसम साफ होने के साथ ही फिर काम तेजी से शुरू कर दिया गया है। चिलमधार से चार किलोमीटर आगे तक डामरीकरण का कार्य तेजी से किया जा रहा है। लगभग 70 किमी लंबी यह सड़क दो हिस्सों में बनाई जा रही है। ऊपरी हिस्से में समय भारी बर्फ जमा है। शुक्रवार से सड़क पर जमा बर्फ हटाने का काम भी शुरू कर दिया गया है। उच्च हिमालय क्षेत्र में मार्ग बंद होने के चलते जवानों और मजदूरों के लिए शुक्रवार को हेलीकाप्टर से रसद पहुंचाई गई। मुनस्यारी हेलीपेड से हेलीकाप्टरों ने रसद पहुंचाने के लिए कई उड़ान भरी।

Edited By: Jagran