संवाद सूत्र, धारचूला: इनर लाइन को छियालेक से जौलजीवी शिफ्ट किए जाने की मांग को लेकर धारचूला वासियों ने शुक्रवार को जोरदार प्रदर्शन किया। गुस्साए लोगों ने भारत नेपाल के बीच बने अंतर्राष्ट्रीय झूला पुल पर आवागमन ठप करा दिया। क्षेत्रवासियों ने मांग को शीघ्र पूरा नहीं किए जाने पर लोकसभा चुनावों के बहिष्कार की चेतावनी दी है।

युवा नेता वीरेंद्र नबियाल की अगुवाई में धारचूला नगर में जुलूस निकाला गया। सीमा पुल पर पहुंचे लोगों ने दोनों देशों के बीच आवागमन बंद करा दिया। प्रदर्शनकारियों ने पुल पर तालाबंदी की कोशिश की, लेकिन पुल पर तैनात एसएसबी ने इसे सफल नहीं होने दिया। नाराज लोगों ने प्रदर्शन के बाद सभा की। जिसमें वक्ताओं ने कहा कि पूर्व में इनर लाइन जौलजीवी में तय की गई थी। धारचूला को नोटिफाइड एरिया का दर्जा मिला हुआ था। बाहरी लोगों को यहां आने के लिए परमिट लेना अनिवार्य था, इससे क्षेत्र में शांति व्यवस्था बनी हुई थी, इनर लाइन शिफ्ट किए जाने के बाद से अवांछित तत्व धारचूला पहुंच रहे हैं, कई घटनाओं में बाहरी लोगों की संलिप्तता सामने आई है। धारचूला क्षेत्र में शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए इनर लाइन को जौलजीवी लाया जाना जरू री है। प्रदर्शनकारियों ने कहा कि सरकार जल्द इस मांग को नहीं मानती है तो आगामी लोक सभा चुनावों का बहिष्कार किया जाएगा। सभा को राजेंद्र नबियाल, पूरन ग्वाल, नंदा बिष्ट आदि ने संबोधित किया। रं कल्याण संस्था, अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद, दारमा सेवा समिति, व्यापार संघ, प्रधान संगठन, टैक्सी यूनियन ने इस मांग का समर्थन किया है। प्रदर्शन के बाद इनर लाइन जौलजीवी लाए जाने की मांग का ज्ञापन गृहमंत्री को प्रेषित किया गया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस