संवाद सूत्र, थल : देवलथल तहसील के चौपात गांव में मकान में लगी आग की चपेट में आने से एक पूर्व फौजी की मौत हो गई। ग्रामीणों ने दो घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। पोस्टमार्टम के बाद थल घाट में पूर्व सैनिक की अंत्येष्टि की गई।

मिली जानकारी के अनुसार चौपात गांव में पूर्व फौजी दरबान सिंह कन्याल उम्र 72 वर्ष का तीन मंजिला मकान है। मकान में दरबान सिंह उनकी पत्नी भागीरथी देवी और पुत्र राजेंद्र सिंह रहते हैं। गुरुवार की रात परिवार के तीनों सदस्य अलग-अलग कमरे में सोए थे। रात्रि ढाई बजे दरबान सिंह के कमरे में आग लग गई। लकड़ी का मकान होने के कारण आग ने थोड़ी ही देर में भीषण रू प ले लिया। कमरे में धुंआ घुसने पर भागीरथी देवी की नींद खुल गई। उन्होंने शोर मचाकर दूसरे कमरे में सो रहे अपने पुत्र राजेंद्र सिंह को जगाया। तब तक ग्रामीण भी मौके पर एकत्र हो गए। राजेंद्र सिंह और ग्रामीणों ने भागीरथी देवी को कमरे से बाहर निकाला। तब तक दरबान सिंह का कक्ष भरभराकर गिर गया और वे कक्ष में ही दब गए। प्रात: चार बजे घटना की सूचना थल पुलिस को मिली। थाना प्रभारी भगवान सिंह गोस्वामी पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंचे। पुलिस टीम पहुंचने से पहले ग्रामीणों ने आग पर काबू पा लिया। आग बुझने के बाद ही दरबान सिंह का शव बाहर निकाला जा सका। पुलिस ने पंचनामा भरकर शव को पोस्टमार्टम के लिए जिला मुख्यालय भेजा। पोस्टमार्टम के बाद पूर्व सैनिक की अंत्येष्टि की गई। पुलिस आग लगने का कारण बिजली का शार्ट सर्किट मान रही है। इस घटना से देवलथल क्षेत्र में शोक की लहर है।

By Jagran