संवाद सूत्र, गंगोलीहाट: तहसील क्षेत्र के सुन्यूड़ा के ग्रामीणों ने लंबकेश्वर मंदिर में हुई बाबा हत्याकांड की दोबारा जांच करने की मांग को लेकर सोमवार को तहसील मुख्यालय पहुंचकर प्रदर्शन किया। ग्रामीणों का आरोप है कि हत्याकांड में पुलिस की ओर से निर्दोष लोगों को जबरन बंदी बनाया गया है। ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री को पत्र भेजकर इस मामले की अविलंब उच्च स्तरीय जांच कराने की मांग की है।

सोमवार को ग्रामसभा सुन्यूड़ा के दर्जनों ग्रामीण जुलूस की शक्ल में तहसील मुख्यालय पहुंचे। इस दौरान उन्होंने तहसील कार्यालय में एसडीएम की अनुपस्थिति में पेशकार ओम प्रकाश को मुख्यमंत्री के नाम का एक ज्ञापन सौंपा। जिसमें ग्रामीणों ने कहा कि विगत एक जून को क्षेत्र के लंबकेश्वर महादेव मंदिर में एक बाबा का शव संदिग्ध हालात में मिला था। जिसमें पुलिस की ओर से सुन्यूड़ा के दो सगे भाई होशियार सिंह व शेर सिंह को अपराधी बनाया गया है, जबकि इस मामले में पुलिस अभी तक किसी भी प्रकार का सुबूत पेश नहीं कर सकी है। बिना किसी जांच के उन्हें अपराधी बनाना गलत है। ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री से इस मामले की जांच सीबीसीआइडी से कराने हेतु आदेश करने की मांग की है। इस मौके पर ग्राम प्रधान आनंद प्रसाद, चंद्र देवी, दीपा देवी, गणेश सिंह, रेखा, धीरज महरा, सचिन महरा, आशा देवी, जानकी देवी, परू ली देवी, रेवती देवी, विक्रम सिंह, तुलसी देवी, भगवान सिंह, सूरज सिंह, कुंदन, गोविंद, बसंत आदि शामिल रहे।

Posted By: Jagran