संसू, धारचूला : उच्च हिमालयी दारमा घाटी के ग्रामीणों ने मार्ग को लेकर मतदान बहिष्कार का निर्णय वापस ले लिया है। दारमावासियों ने मतदान में भाग लेने की सहमति दे दी है। दारमा मार्ग भारी बर्फ के कारण बंद है। माइग्रेशन को लेकर परेशान ग्रामीणों ने मतदान बहिष्कार का निर्णय लिया था। इस संबंध में रविवार को प्रशासन की टीम ने तहसीलदार बीसी मुनगली के नेतृत्व में राजस्व दल को वार्ता के लिए भेजा। वार्ता के दौरान प्रशासन ने भूगोलिक स्थिति ठीक होते ही प्राथमिकता के साथ मार्ग खोलने का आश्वासन दिया है। इस आश्वासन पर दारमा के ग्यारह गांवों के ग्रामीणों ने मतदान बहिष्कार का निर्णय वापस ले लिया है।

Edited By: Jagran