संवाद सहयोगी, पिथौरागढ़: सीमांत तहसील मुनस्यारी में भारी बारिश से मवानी-दवानी क्षेत्र की आठ पेयजल योजनाएं क्षतिग्रस्त हो गई है। सैकड़ों की आबादी के समक्ष पेयजल संकट खड़ा हो गया है। परेशान ग्रामीणों ने जिला मुख्यालय पहुंचकर अधिकारियों को अपनी परेशानी बताई।

मुख्यालय पहुंचे ग्रामीणों ने बताया कि 12 जुलाई को हुई भारी बारिश से फसरकोट, रू थी, गार्थी, घरू ड़ी, दारमा, द्वारी, आलम, उमरगाढ़ा, खिनवागांव पेयजल योजना क्षतिग्रस्त हो गई हैं। जिससे कई गांवों में पेयजल संकट खड़ा हो गया है। ग्रामीण प्राकृतिक जल स्रोतों से अपनी जरू रत पूरी करने को मजबूर हैं। फसरकोट में भूस्खलन से 15 मकानों में मलबा घुस गया। कृषि भूमि बर्बाद हो गई है। ग्रामीणों ने अपर जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपकर अविलंब क्षतिग्रस्त पेयजल योजनाओं का पुनर्निर्माण कराए जाने और भूस्खलन को रोकने के लिए सुरक्षा दीवार बनाए जाने की मांग की। ज्ञापन सौंपने वालों में संजय सिंह, सुरेश सिंह, रेखा धामी, भुवनेश्वरी, खीला धामी, यश राणा, ईश्वर सिंह, मनमोहन सिंह, दीपक सिंह, कमलेश सिंह, हरिओम सिंह राणा, महेश कार्की, तारेंद्र महर, शशांक, उमेश सिंह, हिमांशु सिंह, दिव्यांशु टोलिया, धमेंद्र सिंह सोरागी आदि शामिल थे।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस