पिथौरागढ़, जेएनएन : अधीनस्थ सेवा चयन आयोग के तत्वावधान में रविवार को पिथौरागढ़ में वन आरक्षी की लिखित परीक्षा शांतिपूर्वक संपन्न हुई। परीक्षा दो पालियों में कराई गई। जिसमें लगभग 5221 परीक्षार्थी उपस्थित व 3430 परीक्षार्थी अनुपस्थित रहे। बता दें कि उत्तराखंड के इतिहास में यह अब तक की सबसे बड़ी लिखित परीक्षा थी। जिसमें प्रदेश भर से करीब डेढ़ लाख अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था।

वन आरक्षी पदों के लिए सीमांत जिले से करीब 8451 अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था। जिला मुख्यालय में परीक्षा के लिए 12 केंद्र बनाए गए थे। जिसमें एसडीएस राइंका, मिशन इंटर कॉलेज, एलडब्ल्यूएस भाटकोट, दयासागर, एलएसएम पीजी कॉलेज, केएनयू राइंका, गंगोत्री गब्र्याल राबाइंका, एशियन एकेडमी, राबाइंका ऐंचोली, मल्लिकार्जन, मानस एकेडमी व महर्षि विद्या मंदिर थे। पहली पाली में 4237 परीक्षार्थी पंजीकृत थे। जिसमें 2554 उपस्थित व 1683 परीक्षार्थी अनुपस्थित रहे। दूसरी पाली में 4214 अभ्यर्थी पंजीकृत थे। जिसमें करीब 2667 उपस्थित व 1747 परीक्षार्थी अनुपस्थित रहे। परीक्षा के नोडल अधिकारी अपर जिलाधिकारी आरडी पालीवाल थे। सभी केंद्रों में भारी पुलिस मौजूद रहा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस