संवाद सहयोगी, पिथौरागढ़ : 27वीं जनपद स्तरीय दो दिवसीय बाल विज्ञान कांग्रेस संपन्न हो गई है। प्रतियोगिता में जिले के समस्त आठ विकासखंडों के विभिन्न स्कूलों के 90 बाल वैज्ञानिक प्रतिभाग किया। उत्कृष्ट प्रदर्शन के आधार पर 11 बाल वैज्ञानिकों का राज्य स्तर पर चयन किया गया।

स्थानीय एसडीएस राइंका में आयोजित प्रतियोगिता का शुभारंभ मुख्य अतिथि जिला शिक्षाधिकारी माध्यमिक डॉ. एके गुसाई ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया। अपने संबोधन में उन्होंने विज्ञान को आम जनमानस में जोड़ने की बात कही। विशिष्ट अतिथि डॉ. सुनील पांडेय व प्रो. कमलेश भाकुनी ने बाल विज्ञान कांग्रेस के शोध को अपने परिवेश में जोड़ने का आह्वान किया। कार्यक्रम समन्वयक डॉ. विकास पंत ने बताया कि इस वर्ष राष्ट्रीय बाल विज्ञान का विषय स्वच्छ हरित एवं स्वस्थ राष्ट्र हेतु विज्ञान तकनीक व नवाचार के अंतर्गत पांच उपविषय पारितंत्र और पारितंत्र सेवाएं, स्वास्थ्य, स्वच्छता व सफाई व्यवस्था, कचरे से समृद्धि, समाज संस्कृति और आजीविका, पारंपरिक ज्ञान प्रणाली रखे गए हैं। जिसमें कनिष्ठ व वरिष्ठ वर्ग के बाल वैज्ञानिकों द्वारा अपने शोध पत्र प्रस्तुत किए गए। शोध पत्रों का मूल्यांकन कार्य डॉ. सुनील पांडेय, डॉ. कमलेश भाकुनी, आरएस खोलिया, त्रिभुवन पांडे, दीपा धामी, संजय पुनेठा, चंद्रदीप धामी, मंजुला पांडेय, भरत शर्मा, इंद्र सिंह मेहता, महेश जोशी द्वारा किया गया। इससे पूर्व कार्यक्रम संयोजक मोहन चंद्र पाठक ने सभी अतिथियों का स्वागत करते हुए उनका आभार प्रकट किया। कार्यक्रम के सफल आयोजन में जिला संदर्भ व्यक्ति रमसा विनोद कुमार टम्टा, नीरज जोशी, भुवन चंद्र, डॉ. दीपक कापड़ी, ललित मोहन जोशी, जीवन जोशी आदि ने सहयोग प्रदान किया। कार्यक्रम का संचालन करन सिंह थापा ने किया।

----------

इनका हुआ चयन

- अंजली वर्मा व गीतिका लोहिया, राबाइंका डीडीहाट

- विशाखा महर व प्रियंका चंद, राबाइंका मूनाकोट

- अंजली खड़ायत, राउमावि न्वाली

- सूरज सिंह दानू व मुकुल सिंह रौतेला, विवेकानंद विद्यामंदिर धारचूला

- मेघा, कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय दशाईथल

- तुषार राणा, मानस एकेडमी

- अंजली देऊपा, राइंका मस्मोली

प्रीति उप्रेती, राइंका भूलीगांव

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप