जागरण संवाददाता, कोटद्वार: कोटद्वार क्षेत्र में कोरोना संक्रमण किस तेजी से बढ़ रहा है, राजकीय बेस चिकित्सालय में फर्श पर बिछे गद्दों में लेटे मरीजों को देखकर इसका अंदाजा लगाया जा सकता है। चिकित्सालय प्रशासन की ओर से सौ बेड का कोरोना वार्ड बनाया है, लेकिन मरीजों की बढ़ती तादाद के समक्ष यह वार्ड कम पड़ रहा है। ऐसे में चिकित्सालय प्रशासन ने आकस्मिक कक्ष में पचास बेड की व्यवस्था की, लेकिन वह भी कम पड़ रहे हैं। ऐसे में चिकित्सालय प्रशासन अन्य वार्डों में मरीजों को भर्ती करने की योजना बना रहा है।

कोटद्वार बेस चिकित्सालय में कोटद्वार नगर निगम के साथ ही प्रखंड दुगड्डा, नैनीडांडा, जहरीखाल, रिखणीखाल, यमकेश्वर के मरीज पहुंचते हैं। कोरोना संक्रमण की बात करें तो वर्तमान में दुगड्डा प्रखंड में कोरोना संक्रमण के सबसे अधिक मामले हैं। दुगड्डा प्रखंड में वर्तमान में 701 कोरोना संक्रमित मामले हैं, जिनमें से 418 कोरोना संक्रमित होम आइसोलेशन में हैं। अन्य मरीजों को कौड़िया स्थित कोविड केयर सेंटर व बेस चिकित्सालय में भर्ती किया है। मरीजों की तादाद लगातार बढ़ रही है, जिस कारण बेस चिकित्सालय में बेड कम पड़ने लगे हैं। ऐसे में चिकित्सालय प्रशासन मेडिकल वार्ड में भी मरीजों को भर्ती कर रहा है। मेडिकल वार्ड में यदि किसी मरीज को ऑक्सीजन की जरूरत महसूस होती है, तो उसे आकस्मिक वार्ड में शिफ्ट किया जा रहा है।

कोरोना वार्ड में कोई बेड रिक्त नहीं है। ऐसे में चिकित्सालय प्रशासन ने कोरोना मरीजों को आकस्मिक वार्ड में भर्ती करना शुरू किया। लेकिन इस वार्ड में भी बेड की किल्लत हो गई है। ऐसे में अब फर्श में गद्दे बिछाकर मरीजों को ऑक्सीजन दी जा रही है।

कोटद्वार में प्रतिदिन कोरोना संक्रमितों की संख्या में बढ़ोतरी हो रही है। कोरोना संक्रमित व्यक्तियों को कोरोना वार्ड में भर्ती किया जा रहा है, जबकि कोरोना संदिग्ध मरीजों को मेडिकल वार्ड में रखा जाता है। मेडिकल वार्ड में भर्ती किसी मरीज को यदि ऑक्सीजन की जरूरत होती है तो उसे तत्काल आकस्मिक कक्ष में शिफ्ट किया जाता है। आकस्मिक कक्ष में बाहर से आ रहे संदिग्ध मरीजों को भी ऑक्सीजन देने की व्यवस्था है। ऐसे में कई मर्तबा आकस्मिक वार्ड में लगे सभी बेड फुल हो जाते हैं। मरीज की जान बचाने के लिए उन्हें फर्श में गद्दे पर बिछाकर ऑक्सीजन देना मजबूरी बन जाती है।

डॉ. एसडी आर्य, प्रभारी प्रमुख अधीक्षक, कोटद्वार बेस चिकित्सालय नहीं शुरू हुआ ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट

कोटद्वार बेस चिकित्सालय में केंद्र की ओर से भेजा गया ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट अभी तक शुरू नहीं हो पाया है। चिकित्सालय सूत्रों की मानें तो प्लांट को कक्ष में स्थापित तो कर दिया है। लेकिन, इस प्लांट को शुरू करने वाली तकनीकि टीम अभी तक अस्पताल में नहीं पहुंच पाई है। कोरोना संक्रमित की मौत

कोटद्वार बेस चिकित्सालय में मंगलवार को कोरोना संक्रमित एक व्यक्ति की मौत हो गई। इधर, प्रखंड दुगड्डा में मंगलवार को कोरोना संक्रमण के 54 नए मामले प्रकाश में आए।