जागरण संवाददाता, रुड़की : पहली बार रुड़की पहुंचे गन्ना आयुक्त ललित मोहन रयाल ने घटतोली रोकने में नाकाम विभाग के अफसरों को फटकार लगाई। उन्होंने निर्देश दिये कि घटतोली पर प्रभावी कार्रवाई की जाये। इसके अलावा गन्ने के भुगतान में भी तेजी लाई जाये।

शुक्रवार को रुड़की गन्ना समिति में पहुंचे गन्ना आयुक्त ललित मोहन रयाल ने गन्ना मूल्य भुगतान को लेकर समीक्षा बैठक की। उन्होंने गन्ना विभाग के अधकारियों से पूछना शुरू किया कि अब तक कितने क्रय केंद्रों के निरीक्षण किये गये हैं। कितनी घटतोली पकड़ी गई है। जिस पर गन्ना विभाग के अधिकारी कोई जवाब नहीं दे पाए। जिस पर गन्ना आयुक्त ने नाराजगी जताई। उन्होंने निर्देश दिए कि घटतौली पर प्रभावी कार्रवाई हो। गन्ना खरीद में हो रहे असमान वितरण पर भी गन्ना आयुक्त ने नाराजगी जताई। इसके बाद उन्होंने सभी अधिकारियों को निर्देश दिए कि गन्ना विकास पर भी विशेष ध्यान दिया जाए। किसानों को समय से गन्ने का बीज उपलब्ध कराया जाए। गन्ना पर्चियों के वितरण में पूरी तरह से पारदर्शिता बरती जाए। इसके अलावा किसानों के ट्रांसपोर्ट मोड को अधिक से अधिक न बदला जाए। यदि कोई बैंक भुगतान में देरी करता है तो उस पर भी कार्रवाई की जाए। इस मौके पर सहायक गन्ना आयुक्त शैलेन्द्र ¨सह, ज्येष्ठ गन्ना विकास निरीक्षक दिग्विजय ¨सह, आशीष कुमार नेगी, प्रदीप वर्मा, सचिव गौतम नेगी, कुलदीप तोमर, जय ¨सह, अशोक कुमार आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप