कोटद्वार, जेएनएन। अधिवक्ता सुशील रघुवंशी हत्याकांड में पुलिस ने फरार चल रहे शूटर को बिजनौर से गिरफ्तार किया है। पुलिस पूछताछ में दबोचे गए शूटर ने न सिर्फ रघुवंशी की हत्या करने की बात स्वीकारी, बल्कि हत्याकांड को किस तरह अंजाम दिया गया, इसका भी खुलासा किया। 

कोतवाली में आयोजित पत्रकार वार्ता में कोतवाल मनोज रतूड़ी ने शूटर को मीडिया से रूबरू किया। पुलिस के मुताबिक मंगलवार सुबह मुखबिर की सूचना के बाद पुलिस ने जनपद बिजनौर के अंतर्गत मोतीचूर चौराहा (किरतपुर-बिजनौर) से फरार आरोपित को धर दबोचा। आरोपित की पहचान थाना तितावी(मुजफ्फरनगर) के ग्राम सोहजनी जाटान निवासी दीपक शर्मा पुत्र स्व. नरेंद्र शर्मा के रूप में हुई है। 

पुलिस पूछताछ में दीपक ने बताया कि अल्मोड़ा जेल में बंद रूपेश त्यागी उर्फ अमित त्यागी के कहने पर वह और दीपक मान कोटद्वार आए। जहां सुरेंद्र सिंह नेगी उर्फ सूरी ने उन्हें पिस्टल और कारतूस मुहैया कराने के साथ ही सुशील रघुवंशी का घर भी दिखाया। बताया कि 13 सितंबर 2017 वह बाइक पर सवार होकर अपने साथी शूटर ख्वाजा नगला (छपरौली-बागपत) निवासी दीपक मान के साथ सुशील के घर के पास पहुंचा। मोटरसाइकिल वह खुद चला रहा था और जैसे ही सुशील अपनी बाइक से घर से बाहर निकला, दीपक ने उस पर फायर झोंक दिए और मौके से फरार हो गए।

यह भी पढ़ें: अधिवक्ता सुशील रघुवंशी की हत्या में शूटर गिरफ्तार, 25 लाख में हुआ था सौदा

यह भी पढ़ें: समर जहां हत्याकांड के शूटर को दून लाने में फंसा पेच, पढ़िए पूरी खबर

यह भी पढ़ें: नशेड़ी ने मां बेटे को बेरहमी से लाठी से पीटपीट कर मार डाला, ससुर व बहू की भी हत्‍या की कोशिश

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Raksha Panthari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप