पौड़ी गढ़वाल, जेएनएन। हत्या के बाद शव को ठिकाने लगाने वाला फरार नेपाली मजदूर को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। साथ ही मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत में पेश किया, जहां से उसे न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया गया है।

दरअसल, 11 जनवरी की जनवरी 2019 की रात एमआइसी रोड निवासी पत्नी सुमित्रा नेगी ने गृह क्लेश से तंग आकर बेटे के साथ मिलकर पति की हत्या कर दी थी। हत्या के तीन दिन बाद शव को ठिकाने लगाने के लिए नेपाली मजदूर को सौंप दिया। नेपाली मजदूर ने शव को मुख्यालय से सटे तिमली रोड पर फेंक दिया। जिसके बाद 14 जनवरी को चीता पुलिस की टीम को गश्त के दौरान शव मिला। घटना की सूचना के बाद पुलिस टीम ने मौके पर पहुंची और शव की शिनाख्त सतेंद्र सिंह नेगी पुत्र प्रताप सिंह एमआइसी रोड निवासी के रुप में की थी। 

मामले में कार्रवाई करते हुए पुलिस ने आरोपित की पत्नी और बेटे मोहन सिंह को गिरफ्तार किया, जो वर्तमान में न्यायिक अभिरक्षा में हैं। लेकिन घटना के बाद से शव फेंकने वाला आरोपित फरार चल रहा था। पुलिस टीम ने उसकी तलाश में कई स्थानों पर दबिश दी। लंबे समय तक दबिश के बाद पुलिस टीम ने 23 जून को आइएसबीटी देहरादून बस अड्डे से आरोपित को गिरफ्तार किया। जिसके बाद 24 जून को मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत में पेश किया गया। अदालत ने आरोपित को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है।

एसएसआइ उमेश कुमार ने बताया कि शव फेंकने वाले आरोपित मन बहादुर खत्री(39 वर्ष) निवासी ओड़ा, डलसिंह थाना फारुला आंचल राफ्ती जिला सल्या नेपाल को गिरफ्तार कर न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया गया है। 

यह भी पढ़ें: ससुर ने दामाद को घर से निकाला, तो बेटी ने कर दी पिता की हत्या

यह भी पढ़ें: समर जहां हत्याकांड: क्राइम सीन का रीक्रिएशन, हत्या में प्रयुक्त पिस्टल बरामद

यह भी पढ़ें: चर्चित समर जहां हत्याकांड में हत्यारे की कस्टडी रिमांड लेगी पुलिस

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Raksha Panthari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप