मनोहर बिष्ट, पौड़ी:

नवसृजित राजकीय महाविद्यालय पाबौ में अभावों के बावजूद छात्रों का प्रवेश उत्साहित करने वाला है। महाविद्यालय के सृजन के साथ स्नातक कला संकाय में तीन विषय दिए गए। वाणिज्य संकाय भी प्रदान किया गया, लेकिन कला संकाय में छात्रों के पास कोई विकल्प नहीं होने के बावजूद अभी तक 49 छात्रों ने प्रवेश ले लिया है। महाविद्यालय में शिक्षकों की नियुक्ति का अभी इंतजार है। प्राचार्य ने प्रोत्साहन कक्षाओं का संचालन शुरु कर दिया है।

राजकीय महाविद्यालय पाबौ का सृजन जुलाई 2018 को हुआ। राजकीय स्नात्तकोत्तर महाविद्यालय ऋषिकेश के वाणिज्य संकाय में सेवारत डॉ. आरके उभान को महाविद्यालय के प्राचार्य पद पर नियुक्त किया गया। डॉ. उभान ने 23 जुलाई 2018 को पदभार संभालते ही महाविद्यालय की व्यवस्थाओं का संचालन व प्रवेश प्रक्रिया शुरु कर दी। महाविद्यालय में अभी तक स्नात्तक प्रथम सेमेस्टर ¨हदी, अंग्रेजी व राजनीति विज्ञान विषय में 49 छात्रों ने प्रवेश लिया है। जिनमें 10 छात्र और 39 छात्राएं शामिल हैं। जबकि वाणिज्य संकाय में कोई प्रवेश नहीं हुआ है। महाविद्यालय में छात्रों के पास प्रवेश को लेकर विकल्प का अभाव है। लेकिन इसके बावजूद छात्रों के प्रवेश की संख्या उत्साहित करने वाली है। महाविद्यालय में शिक्षकों के अभाव के बावजूद प्रोत्साहन कक्षाओं का संचालन शुरु हो गया है। प्राचार्य डॉ. उभान ने बताया कि महाविद्यालय में प्रवेश को लेकर लगातार छात्र-छात्राएं संपर्क कर रही हैं। लेकिन विषयों के चुनाव में कमी को देखते हुए प्रवेश लेने से हिचक रहे हैं। उच्च शिक्षा निदेशक प्रो. जेसी घिल्डियाल ने बताया कि महाविद्यालय पाबौ में शिक्षकों व शिक्षणेत्तर कर्मचारियों की नियुक्ति प्रक्रिया तेजी से चल रही है। राजकीय महाविद्यालय में प्रवेश लेने वाले छात्र-छात्राओं के पहचान पत्र बन गए हैं। वहीं ड्रेस कोड भी लागू हो गया है। छात्रों के पहचान पत्र प्राचार्य ने अपने संसाधनों से तैयार कराए हैं।

तीन नए विषयों को मिली स्वीकृति

पौड़ी: राजकीय महाविद्यालय पाबौ में कला संकाय के लिए तीन नए विषयों को स्वीकृति मिल गई है। निदेशक प्रो. जेसी घिल्डियाल ने बताया कि महाविद्यालय में अर्थशास्त्र, समाजशास्त्र व इतिहास विषय को स्वीकृति मिल गई है।

फर्नीचर का अभाव, टपक रही है छत

पौड़ी: राजकीय महाविद्यालय पाबौ जीआइसी पाबौ के पुराने भवन में संचालित हो रहा है। महाविद्यालय को आवंटित कमरों की स्थिति दयनीय है। कमरों के खिड़की-दरवाजे टूटे हुए हैं। फर्नीचर भी नहीं है। बारिश होते ही छत भी टपकनी शुरु हो जाती है।

नियुक्तियों का भेजा प्रस्ताव

पौड़ी: प्राचार्य डॉ. आरके उभान ने बताया कि उच्च शिक्षा निदेशालय को महाविद्यालय में स्वीकृत पदों के सापेक्ष शिक्षकों, शिक्षणेत्तर कर्मचारियों व अन्य स्टाफ की नियुक्ति का का प्रस्ताव भेजा है।

फोटो- 11पीएयूपी- 3

Posted By: Jagran