संवाद सहयोगी, कोटद्वार : नगर निगम की लापरवाही प्री-मानसून मे ही ड्रेनेज सिस्टम की पोल खोल रही है। नतीजा शुक्रवार सुबह हुई बारिश से जगह-जगह वार्डों में जल भराव की स्थिति पैदा हो गई। यदि समय रहते नालियों की सफाई का कार्य पूरा नहीं किया गया तो बरसात के समय हालात गंभीर हो सकते हैं।

कोटद्वार नगर निगम बनने के बाद क्षेत्रवासियों को बेहतर विकास की उम्मीद थी, लेकिन नगर निगम बरसात से पहले नालियों की सफाई तक नहीं करवा पा रहा। स्थिति यह है कि प्री-मानसून की दस्तक के साथ ही शहर पानी-पानी होने लगा है। सबसे बुरी स्थिति शहर की सड़कों पर बनी हुई थी। बरसात के पानी के साथ सड़कों पर कूड़ा-करकट बह कर आ रहा था। व्यापारी गुंजन भाटिया ने बताया कि बरसात के समय जलभराव के कारण बदरीनाथ मार्ग, झंडाचौक व स्टेशन रोड की कई दुकानों में पानी भर जाता है। पूर्व में शिकायत करने के बाद भी नगर निगम ने अब तक नालियों की सफाई नहीं करवाई। शिवपुर निवासी धीरज कुमार ने बताया कि बरसात से पहले ड्रेनेज सिस्टम का दुरुस्त होना आवश्यक है, लेकिन नगर निगम कोटद्वार अब भी कुंभकर्णीय नींद सोया हुआ है। जलभराव के कारण हर वर्ष वार्डवासियों को जान-माल का नुकसान झेलना पड़ता है।

व्यापारियों ने बनाई दीवार

बरसात के समय दुकानों में पानी घुसने से व्यापारियों का सामान बर्बाद हो जाता है। ऐसे में व्यापारी अब अपने प्रतिष्ठानों के बाहर ईंट की दीवार बनवा रहे हैं। व्यापारियों का आरोप है कि नगर निगम की ओर से नालियों की सफाई के नाम पर केवल खानापूर्ति की जाती है।

................

कोटद्वार नगर निगम क्षेत्र के पुराने वार्डों में नालियों की सफाई का कार्य पूरा कर लिया गया है। भाबर क्षेत्र में भी सफाई कार्य चल रहा है। बरसात से पहले नालियों की सफाई हो जाएगी।

सुनील कुमार, सफाई निरीक्षक नगर निगम

Edited By: Jagran