संवाद सहयोगी, कोटद्वार: पूर्व काबीना मंत्री सुरेंद्र सिंह नेगी ने कहा कि क्षेत्रीय विधायक विकास के नाम पर जनता को गुमराह करने का काम कर रहे हैं। हकीकत यह है कि साढ़े तीन साल में धरातल पर एक भी काम नहीं हुआ है। कांग्रेस पार्टी जनता की अनदेखी को किसी भी तरह बर्दाश्त नहीं करेगी। कार्यकर्ता जनता के साथ मिलकर प्रत्येक सप्ताह क्षेत्रीय मुद्दों को लेकर धरना देंगे।

पत्रकारों से वार्ता करते हुए सुरेंद्र सिंह नेगी ने कहा कि पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार ने भाबर में मेडिकल कॉलेज बनाने के लिए 12.837 हेक्टेयर भूमि चयनित की गई। साथ ही कॉलेज निर्माण के लिए चार करोड़ रुपये भी स्वीकृत किए गए थे, लेकिन सत्ता परिवर्तन होने के बाद स्थानीय विधायक डॉ. हरक सिंह रावत ने उक्त भूमि को श्रम विभाग के नाम कर दी। कहा कि श्रम विभाग को मेडिकल कॉलेज व अस्पताल बनाने का अधिकार नहीं है, बावजूद इसके भी विधायक जनता को गुमराह करते रहे।

कांग्रेस ने जब विधायक की इस कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े किए तो सरकार ने चिकित्सा शिक्षा विभाग को पत्र भेजकर भूमि अपने नाम करवाने के निर्देश दिए। कहा कि यदि विधायक कोटद्वार का विकास करना चाहते तो अब तक मेडिकल कॉलेज बनकर तैयार हो जाता। नेगी ने कहा कि कांग्रेस के कार्यकाल में कण्वाश्रम के विकास के लिए 22 करोड़ की धनराशि स्वीकृत की गई थी, लेकिन वर्तमान सरकार ने कण्वाश्रम की मालन नदी को केवल खनन के रूप में प्रयोग किया। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार ने कोटद्वार शहर के स्वरूप को बर्बाद कर दिया है। इस मौके पर कांग्रेस जिलाध्यक्ष चंद्रमोहन खर्कवाल, महानगर अध्यक्ष संजय मित्तल मौजूद रहे।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस