कोटद्वार, जेएनएन। गढ़वाल लोकसभा सीट से कांग्रेस प्रत्याशी मनीष खंडूड़ी ने कहा कि उनके पिता भुवन चंद्र खंडूड़ी ने सांसद व मुख्यमंत्री के कार्यकाल में ईमानदारी से अपने दायित्वों का निर्वहन किया। घर से मिले ईमानदारी के संस्कार आज भी उनमें मौजूद हैं, इस कारण राजनीतिक घराने से होते हुए भी वे राजनीतिक क्षेत्र में गुमनाम थे। उधर, कांग्रेस कार्यकर्ताओं की बैठक में मनीष खंडूड़ी ने सुरेंद्र सिंह नेगी से कहा कि कहा कि पिता को हरा दिया, लेकिन मुझे जरूर जिताना।

कोटद्वार में पत्रकारों से हुई वार्ता के दौरान मनीष ने यह बात कही। उन्होंने कहा कि उनके पिता की राजनीति में ईमानदार नेता के रूप में छवि है व पिता के आशीर्वाद से ही उन्होंने राजनीति में पदार्पण किया है। कांग्रेस पार्टी ही एकमात्र ऐसी पार्टी है जो विकास के मुद्दे पर चुनावी मैदान में है। चुनावी रणनीति पर चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि वे जनता के बीच विकास के मुद्दे को लेकर जाएंगे। वहीं, पूर्व विधायक गणेश गोदियाल ने कहा कि गढ़वाल संसदीय सीट में खंडूड़ी व कांग्रेस की ताकत मिलकर भाजपा को परास्त करेगी। 

गढ़वाल संसदीय क्षेत्र से कांग्रेस प्रत्याशी मनीष खंडूड़ी रविवार को कोटद्वार के कार्यकर्ताओं से रूबरू हुए। उन्होंने कहा कि भले ही 2012 में कोटद्वार क्षेत्र की जनता ने उनके पिता को अपना आशीर्वाद न दिया हो, लेकिन इस चुनाव में वे उन्हें अपना आशीर्वाद अवश्य दें।  उन्होंने पूर्व मंत्री सुरेंद्र सिंह नेगी की ओर इशारा करते हुए कहा कि उन्होंने 2012 में उनके पिता को चुनाव में हराया, लेकिन इस बार उन्हें पूरा आशीर्वाद देंगे। कहा कि कांग्रेस राष्ट्र को एकसूत्र में पिरोने का कार्य करती है। 

यह भी पढ़ें: सीएम रावत बोले, विकास के मुद्दों को लेकर जनता से मांगेंगे वोट

यह भी पढ़ें: अनुग्रह नारायण सिंह और इंदिरा हृदयेश प्रत्याशियों के नामांकन में होंगे शामिल

यह भी पढ़ें: आज भी सड़क से नहीं जुड़ा प्रथम विश्व युद्ध के नायक शहीद गबर सिंह का गांव

Posted By: Raksha Panthari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप