जागरण संवाददाता, कोटद्वार: कोटद्वार क्षेत्र की जनता को तीन मार्च से सिद्धबली जनशताब्दी एक्सप्रेस के चलने का बेसब्री से इंतजार है, लेकिन जनशताब्दी के संचालन के समय को लेकर आमजन में भ्रम की स्थिति पैदा हो गई है। रेल महकमे की ओर से जन शताब्दी एक्सप्रेस के संचालन का वही समय दिया गया है, जिस समय पर गढ़वाल एक्सप्रेस का संचालन होता है। ऐसे में गढ़वाल एक्सप्रेस के अस्तित्व पर सवाल उठते नजर आ रहे हैं।

वर्ष 2002 में कोटद्वार से दिल्ली के लिए सीधी रेल सेवा शुरू हुई व इस रेल को 'गढ़वाल एक्सप्रेस' नाम दिया गया। राज्यसभा सांसद अनिल बलूनी के प्रयासों की बदौलत रेल महकमे ने उन्नीस वर्षाें के लंबे इंतजार के बाद कोटद्वार से जनशताब्दी एक्सप्रेस शुरू करने की घोषणा की। 25 फरवरी को इस संबंध में रेलवे बोर्ड के उपनिदेशक राजेश कुमार की ओर से जारी पत्र में सिद्धबली जनशताब्दी एक्सप्रेस के संचालन के समय व निर्धारित मार्ग की जानकारी दी गई। इसके अनुसार, सिद्धबली जनशताब्दी एक्सप्रेस प्रात: सात बजे दिल्ली से कोटद्वार के लिए रवाना होगी व दोपहर पौने दो बजे कोटद्वार स्टेशन में पहुंचेगी। पौने चार बजे यह रेल दिल्ली के लिए रवाना होगी व रात्रि सवा दस बजे दिल्ली पहुंचेगी। 26 फरवरी को जारी एक पत्र में यह भी स्पष्ट कर दिया गया कि सिद्धबली जनशताब्दी एक्सप्रेस उसी मार्ग पर चलेगी, जिसमें गढ़वाल एक्सप्रेस का संचालन होता है।

इधर, सिद्धबली जनशताब्दी एक्सप्रेस के संचालन का समय पता चलने के बाद क्षेत्र की जनता को गढ़वाल एक्सप्रेस की संचालन को लेकर सवाल उठाने लगी है। दरअसल, कोविड के चलते गढ़वाल एक्सप्रेस का संचालन बीते वर्ष मार्च माह से बंद है। अब रेल महकमे ने जनशताब्दी एक्सप्रेस के संचालन का वही समय दिया गया, जिस समय पर गढ़वाल एक्सप्रेस का संचालन होता है। ऐसे में आमजन को अंदेशा है कि संभवत: रेल महकमा गढ़वाल एक्सप्रेस को ही सिद्धबली जनशताब्दी एक्सप्रेस के नाम से संचालित कर रहा है।

अधिकारियों ने लिया तैयारी का जायजा

तीन मार्च से शुरू होने वाली जनशताब्दी एक्सप्रेस के उद्घाटन की तैयारियों को लेकर मुरादाबाद रेल मंडल के सहायक वाणिज्य प्रबंधक नरेश सिंह ने कोटद्वार स्टेशन का मौका मुआयना किया। बताया कि तीन मार्च को रेल मंत्री पीयूष गोयल वीडियो कांफ्रेंसिग के जरिये रेल को हरी झंडी दिखाएंगे।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021