संवाद सहयोगी, कोटद्वार: दिव्यांगों को मिलने वाली पेंशन में बढ़ोत्तरी करने सहित चार सूत्रीय मांगों के निराकरण को लेकर दिव्यांगजनों ने सड़कों पर उतर कर आक्रोश रैली निकाली। दिव्यांगों का आरोप है कि मांगों को लेकर कई बार आश्वासन मिलने के बाद भी प्रदेश सरकार गंभीरता से कार्य नहीं कर रही है। उन्होंने राज्यपाल को ज्ञापन भेजते हुए जल्द समस्याओं के निराकरण की मांग की है।

मंगलवार को अमर शहीद स्मृति दिव्यांग एवं नेत्रहीन संस्था के बैनर तले दिव्यांग जन ¨हदू पंचायती धर्मशाला में एकत्रित हुए। यहां से प्रदेश सरकार के खिलाफ आक्रोश रैली निकालते हुए तहसील परिसर में पहुंचकर उपजिलाधिकारी के माध्यम से राज्यपाल को ज्ञापन भेजते हुए दिव्यांगों ने कहा कि दिव्यांग/युद्ध दिव्यांगजनों के हितार्थ व्यवसायिक, प्रशिक्षण केंद्र व कृत्रिम अंग निर्माण कार्यशाला के लिए भूमि देने, दिव्यांगों के रेलवे पास बनाने के लिए क्षेत्र में कैंप लगाने, दिव्यांगों की शादी, छात्रवृत्ति व अन्य कार्यो के लिए मिलने वाले अनुदान की प्रक्रिया को सरल बनाने व दिव्यांगों को मिलने वाली पेंशन में बढ़ोत्तरी करने की मांग को लेकर वह कई साल से संघर्ष कर रहे हैं, लेकिन प्रदेश सरकार आश्वासन के बाद भी इस ओर ध्यान नहीं दे रही है।

कहा कि यदि जल्द समस्याओं का निराकरण नहीं किया गया, तो दिव्यांग एकजुट होकर उग्र आंदोलन करेंगे। इस मौके पर भोजपाल ¨सह रावत, लीलाधर जोशी, अंजु रावत, भारत ¨सह नेगी, प्रदीप रावत, हेमलता रावत, गोपाल कृष्ण बड़थ्वाल आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran