जागरण संवाददाता, पौड़ी: फिल्म निर्देशक व गीतकार गणेश वीरान ने राज्य में अभी तक फिल्म बोर्ड का गठन न होने पर खासी नाराजगी जताई है। उन्होंने कहा कि एक तरफ सरकार फिल्म सिटी बनाने की बात कर रही है वहीं दूसरी ओर फिल्म बोर्ड का गठन न होना फिल्म सिटी बनाने की मंशा पर संदेह पैदा करने वाला है। वीरान ने कहा कि 17 अगस्त को एक शिष्टमंडल मुख्यमंत्री से वार्ता करेगा, सकारात्मक वार्ता न होने पर समर्थकों के साथ वे विधान सभा के बाहर धरना देंगे।

पत्रकारों से बातचीत में फिल्म निर्देशक गणेश वीरान ने कहा कि राज्य बनने के बात उम्मीद जगी थी कि उत्तराखंड में भी फिल्म बोर्ड का गठन होगा और यहां के कलाकरों, निर्देशक, संगीत व गीतकारों को भी एक मंच मिलेगा, लेकिन इस मसले पर आज तक की सरकारों ने कोई भी ठोस पहल नहीं की। कहा कि राज्य में फिल्मांकन की काफी संभावनाएं हैं लेकिन फिल्म बोर्ड का अभी तक गठन न होने से इसका लाभ यहां के कलाकारों को नहीं मिल पा रहा है। वीरान ने कहा कि सरकार की योजना बालीवुड के कलाकारों को यहां लाना चाहती है और यह स्वागत योग्य है लेकिन यहां के कलाकारों के लिए सरकार के पास कोई योजना ही नहीं है। कहा कि सरकार डोईवाला में फिल्म सिटी बनाने की बात कर रही है और फिल्म बोर्ड का गठन ही नहीं है ऐसे में यह भी संदेह पैदा करने जैसा ही है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस