कोटद्वार, [जेएनएन]: कोटद्वार में केंद्रीय विद्यालय खुलवाने की मांग को लेकर पूर्व सैनिक सेवा परिषद का धरना छठे दिन भी जारी रहा। पूर्व सैनिकों ने केंद्रीय विद्यालय नहीं खोले जाने तक आंदोलन जारी रखने की चेतावनी दी। कहा कि पूर्व में कई बार शासन-प्रशासन से आश्वासन मिलने के बाद भी विद्यालय खोलने के लिए अब तक कोई कार्रवाई नहीं की गई। 

पूर्व सैनिक सेवा परिषद के अध्यक्ष गोपाल कृष्ण बड़थ्वाल के नेतृत्व में पूर्व सैनिकों ने तहसील परिसर में धरना दिया। धरनास्थल पर बैठे पूर्व सैनिकों ने कहा कि कोटद्वार क्षेत्र के अधिकतर युवा भारतीय सेना में कार्यरत हैं। सैनिकों के पाल्यों को बेहतर शिक्षा मिल सके, इसके लिए क्षेत्र में एक केंद्रीय विद्यालय खोलना आवश्यक है। 

उन्होंने कहा कि पूर्व सैनिक कई साल से शासन-प्रशासन से केंद्रीय विद्यालय खुलवाने की मांग कर रहे हैं, लेकिन अब तक इस ओर ध्यान नहीं दिया गया। पहले जब पूर्व सैनिकों ने आंदोलन किया था तो प्रशासन ने उन्हें एक माह के भीतर केंद्रीय विद्यालय के लिए भूमि के चयन का आश्वासन दिया था। लेकिन अब तक इसके लिए धरातल पर कोई भी कार्रवाई नहीं की गई, जिससे पूर्व सैनिकों में रोष व्याप्त है। 

उनका ये भी कहना है कि अगर पूर्व सैनिकों की मांग पर संज्ञान नहीं लिया गया, तो वह एकजुट होकर उग्र आंदोलन करेंगे। इस मौके पर दिवाकर दत्त लखेड़ा, गिरधारी लाल, गोविंद डंडरियाल, योगंबर सिंह रावत, राखी देवी, हुकुम सिंह, आनंद सिंह, रतन सिंह नेगी आदि मौजूद रहे। 

यह भी पढ़ें: एनएसयूआई कार्यकर्ताओं ने कुलपति और उच्‍च शिक्षा मंत्री के खिलाफ की नारेबाजी

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में 1216 पटवारी कलमबंद हड़ताल पर, कानून व्यवस्था चरमराई

यह भी पढ़ें: मानदेय को लेकर मेडिकल कॉलेज के जूनियर डॉक्टरों ने दिया धरना

By Raksha Panthari