श्रीनगर गढ़वाल, [जेएनएन]: विश्व प्रसिद्ध बदरीनाथ धाम के कपाट बंद होने की तिथि 19 अक्टूबर को विजयादशमी के दिन घोषित की जाएगी। श्री बदरी-केदार मंदिर समिति के मीडिया प्रभारी डॉ. हरीश गौड़ ने श्रीनगर में पत्रकारों को यह जानकारी दी।

डॉ. गौड़ ने बताया कि बदरीनाथ मंदिर परिसर में 19 अक्टूबर को सुबह 11 बजे पंचांग गणना के पश्चात कपाटबंदी की तिथि तय की जाएगी। इस दौरान कपाटबंदी से पूर्व होने वाली पंच पूजाओं के साथ ही कपाटबंदी के बाद बदरीनाथ धाम से आद्यगुरु शंकराचार्य की गद्दी के जोशीमठ पहुंचने और भगवान नारायण के बाल सखा उद्धवजी और देवताओं के खजांची कुबेरजी के पांडुकेश्वर आगमन के कार्यक्रम भी तय होगा।

बताया कि इस मौके पर बदरीनाथ धाम के रावल ईश्वरी प्रसाद नंबूदरी, मंदिर समिति के मुख्य कार्याधिकारी बीडी सिंह, धर्माधिकारी भुवन चंद्र उनियाल, सभी वेदपाठी और हक-हकूकधारी भी उपस्थित रहेंगे। 

अब तक 16.71 लाख यात्री कर चुके बदरी-केदार दर्शन

मीडिया प्रभारी डॉ. हरीश गौड़ ने बताया कि इस वर्ष अब तक 16 लाख 71 हजार 363 यात्री बदरी-केदार धाम पहुंच चुके हैं। बीते वर्ष यह संख्या 13 लाख 91 हजार 699 थी। बताया कि सोमवार तक नौ लाख 67 हजार 636 यात्री बदरीनाथ और सात लाख तीन हजार 727 यात्री केदारनाथ पहुंच चुके हैं। अभी कपाट बंद होने में काफी समय बचा है।

यह भी पढ़ें: देवी के मुख और गंगा की दिशा के कारण पड़ा मंदिर का यह नाम

यह भी पढ़ें: इस देवी मंदिर तक पहुंचने के लिए जाना पड़ता है गुफा से होकर, जानिए

यह भी पढ़ें: इस मंदिर में पहले दी जाती थी बलि, अब चढ़ते हैं नारियल

Posted By: Bhanu

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप