कोटद्वार(पौड़ी),[जेएनएन]: प्रधानमंत्री देश को डिजीटल बनाने की बात कर रहे हैं, लेकिन ऑनलाइन सामान बेचने के नाम पर कई फर्जी कंपनियां लोगों के साथ बेखौफ होकर ठगी कर रहे हैं। कुछ ऐसा ही मामला सिताबपुर निवासी एक युवक के साथ हुआ। युवक ने एक सप्ताह पूर्व ऑनलाइन मोबाइल का ऑर्डर दिया था। शुक्रवार को जब उसके पास पार्सल पहुंचा, तो उसमें मोबाइल के बजाय कबाड़ भरा हुआ था। कई बार कॉल करने के बाद भी जब कंपनी का नंबर नहीं लगा, तो युवक ने इस संबंध में कोतवाली में पहुंचकर तहरीर दी।

सिताबपुर निवासी मयंक कुमार ने बताया कि एक सप्ताह पहले उनके मोबाइल में एक मैसेज आया, जिसमें दस हजार रुपये का मोबाइल आठ हजार रुपये में देने की बात कही गई थी। इंटरनेट पर जाकर उन्होंने मोबाइल ऑर्डर किया और अपने बैंक खाते से ही ऑनलाइन पेमेंट की। शुक्रवार सुबह एक व्यक्ति उनके घर पर आकर उनके भाई को पार्सल देकर चला गया।

शाम को जब उन्होंने घर पहुंचकर पार्सल खोला, तो उसमें मोबाइल के बजाय एक डिब्बे में कबाड़ भरा हुआ था। इंटरनेट में जाकर जब उन्होंने कंपनी की साइड से मोबाइल नंबर निकालकर उस पर फोन किया, तो नंबर बंद मिला। इसके बाद उन्होंने इस संबंध में शनिवार को कोतवाली में तहरीर दी।

एसएसआई राकेंद्र कठैत ने बताया कि ऑनलाइन खरीदारी करने से पहले कंपनी के बारे में पूरी जानकारी ले लेनी चाहिए। युवक की तहरीर के आधार पर मामले की जांच की जाएगी।

यह भी पढ़ें : ऑनलाइन लॉटरी का झांसा देकर गुरुकुल कांगड़ी विवि लेक्चरर से लाखों की ठगी

यह भी पढ़ें: खुद को बैंक का अधिकारी बता कर फैक्ट्रीकर्मी के खाते से उड़ाए 16 हजार

यह भी पढ़ें: जालसाज ने बैंक अधिकारी बन खाते से एक हजार उड़ाए 

Posted By: Sunil Negi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस