जागरण संवाददाता, कोटद्वार: कोटद्वार व आसपास के क्षेत्र में काश्तकारों के चेहरे खिले हुए हैं। दरअसल, देर से ही सही, आखिरकार क्षेत्र में बादलों के जमकर बरसने के बाद काश्तकारों ने धान रोपाई का कार्य शुरू कर दिया है।

कोटद्वार व आसपास के क्षेत्र की जनता पर आखिरकार 'इंद्रदेव' मेहरबान हो ही गई। सोमवार रात्रि से रूक-रूक कर शुरू हुआ बारिश का सिलसिला मंगलवार पूरे दिन जारी रहा। बारिश के चलते जहां आमजन को उमस से राहत मिली, वहीं काश्तकारों के भी चेहरे खिल उठे हैं। क्षेत्र में बारिश के बाद अब खेत धान की रोपाई के लिए पूरी तरह तैयार हो चुके हैं व काश्तकार भी रोपाई की तैयारियों में जुट गए हैं। धान की रोपाई के साथ ही काश्तकार उड़द, मूंग सहित अन्य दालों को बोने के लिए भी खेतों में हल जोतने लगे हैं।

इधर, बारिश के कारण क्षेत्र में कई स्थान पर सड़कों में पानी भरने से लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा। क्षेत्र में कई जगह गली-मोहल्ले के रास्तों में भारी भर जाने के कारण लोगों को परेशानियां उठानी पड़ी। बारिश के कारण क्षेत्र में कहीं भी सड़क अवरुद्ध होने की जानकारी नहीं है।

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट