जागरण संवाददाता, हल्द्वानी: काठगोदाम थाने में एक महिला ने पति समेत ससुराल पक्ष के चार लोगों के खिलाफ दहेज मांगने व उत्पीड़न का मुकदमा दर्ज करवाया। वहीं, युवक की मां को इस बात का पता चलने पर उसने सदमे में आकर घर पर रखा जहरीला पदार्थ गटक लिया। गंभीर हालत में परिजन उसे लेकर बेस अस्पताल पहुंचे। पुलिस मामले की जांच कर रही है। परिजनों का आरोप है कि आरोप निराधार हैं। ऐसा कुछ भी नहीं है, सिर्फ फंसाने के लिए किया जा रहा है। जनवरी में काठगोदाम निवासी एक युवक की कॉलेज में पढ़ाई के दौरान एक युवती के साथ दोस्ती हुई। दोस्ती प्यार में बदलने पर दोनों ने परिवार की मर्जी के खिलाफ शादी कर ली। युवक ने बताया कि घरवालों द्वारा रिश्तों को मंजूरी नहीं देने पर दोनों तीन माह तक किराये पर कमरा लेकर रहे। वहीं महिला का आरोप है कि ससुराल पक्ष के लोग दहेज की डिमांड को लेकर उसे लगातार परेशान कर रहे थे। उसने ससुरालियों पर मारपीट, जान से मारने की धमकी और यौन उत्पीड़न का आरोप भी लगाया है। पुलिस ने संबंधित धाराओं में युवक, उसके पिता व मां समेत एक अन्य के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाया है। इस बीच मंगलवार सुबह मुकदमे का पता लगने पर युवक की मां ने जहरीला पदार्थ गटक लिया। बाद में उसे बेस में भर्ती कराया गया। रजामंदी से अलग हुए बेस में मौजूद युवक और उसके परिजनों ने बताया कि आपसी समझौते के बाद दोनों अलग हुए थे। युवक की उम्र शादी के दौरान 21 साल नहीं थी। साजिशन उन्हें मामले में फंसाया जा रहा है।