हल्द्वानी, जेएनएन : रुद्रपुर के सामिया लेक सिटी में रहने वाले अवतार सिंह की हत्या का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। हत्या में शामिल पत्नी नीलम और उसके दोस्त मनीष मिश्रा को गिरफ्तार कर लिया गया है। दोनों ने ढाई माह पहले ही कत्ल की योजना बना ली थी। 16 मई को इन्होंने तीसरे साथी अजय यादव के साथ मिलकर अवतार की हत्या की फिर लाश जलाई गई। फरार अजय की तलाश में पुलिस टीमें जुटी हैं। 

एसएसपी सुनील कुमार मीणा ने बुधवार दोपहर हत्याकांड का खुलासा किया। अवतार सिडकुल की फैक्ट्रियों में सफाई के लिए लेबर उपलब्ध कराते थे। जबकि मनीष मिश्रा फैक्ट्रियों में सिक्योरिटी गार्ड सप्लाई करने वाली एक कंपनी में सुपरवाइजर था। मनीष के भी सामिया लेक सिटी में किराये पर रहने से अवतार से जान-पहचान हो गई। धीरे-धीरे मनीष का अवतार के घर आना-जाना शुरू हो गया। करीब एक साल पहले मनीष व नीलम के बीच अनैतिक रिश्ते बन गए। इसका पता अवतार को लगा तो मनीष से विवाद भी हुआ। मार्च में मनीष और नीलम ने मिलकर अवतार को रास्ते से हटाने की योजना बनाई। 16 मई को हल्द्वानी आने से पहले नीलम ने अवतार को ग्लूकॉन डी में घोलकर नींद की 10 गोलियां पिला दी। घर से निकलते ही अवतार को बेहोशी छाने लगी तो उन्होंने कार नीलम को चलाने के लिए दे दी। 

हल्द्वानी आने तक अवतार पूरी तरह बेहोश हो गए। वहीं, पीछे से बाइक से मनीष व अजय भी आ गए। मुखानी चौराहे से नीलम ने कार की चाबी मनीष व अजय को दे दी। चौराहे से अजय कार लेकर नैनीताल रोड की ओर निकला। जबकि मनीष पीछे से बाइक से गया। घटनास्थल सलड़ी पहुंचने से कुछ पहले अजय ने कार मनीष को सौंप दी। कुछ आगे जाने के बाद मनीष ने कार सुनसान स्थान पर खड़ी कर दी। दोनों ने मिलकर पहले गमछे से अवतार की गला दबाकर हत्या की और फिर पूरी कार व शव में पेट्रोल डालकर आग लगा दी। 

मार्च में ही खरीद ली थी नींद की गोलियां 

मार्च में मनीष अपने मूल गांव नंदोत, थाना फूलपुर, प्रयागराज (इलाहबाद) गया था। 11 मार्च को ही वह अवतार को खिलाने के लिए इलाहबाद से नींद की 10 गोलियां ले आया। पहले नीलम और मनीष ने लड्डू में मिलाकर अवतार को गोलियां खिलाने की योजना बनाई थी, लेकिन इसमें असफल होने की आशंका पर दोनों ने प्लान बदल दिया। 

वाहनों का आना-जाना देख हड़बड़ा गए थे दोनों

पुलिस के मुताबिक मनीष व अजय की योजना अवतार की हत्या कर कार को आग लगाने के बाद खाई में फेंकने की थी। उन्होंने कार को खाई में फेंकने से पहले अवतार को ड्राइविंग सीट पर बैठाने की योजना भी बनाई थी। वहीं, भीमताल रोड पर वाहनों का आवागमन अधिक होने से दोनों हड़बड़ा गए। 

एक साल से थे दोनों में अवैध संबंध 

नीलम व मनीष के बीच अवैध संबंधों के चर्चे आम हो गए थे। एक साल पहले से दोनों के बीच अनैतिक संबंध थे। कुछ माह पहले अवतार ने दोनों को रंगे हाथों पकड़ भी लिया था। जिस पर अवतार व मनीष के बीच काफी विवाद हुआ था। अवतार ने मनीष से हाथापायी तक कर दी थी। करीब चार बार दोनों में मारपीट हुई। इसके बाद भी दोनों ने अवैध संबंधों को कायम रखा और अवतार की हत्या की ही योजना बना डाली। 

तीन दिन पहले रुद्रपुर आ गया था अजय

कोतवाल हल्द्वानी विक्रम राठौर ने बताया कि मनीष व अजय ने इलाहबाद में साथ पढ़ा है। अजय मूल रूप से जौनपुर जिले के ग्राम दौलतिया, थाना मुगराबाद शाहपुर का रहने वाला है। जांच में पता चला कि वह हत्याकांड को अंजाम देने से तीन दिन पहले ही रुद्रपुर मनीष के पास आ गया था। तीन दिन तक दोनों साथ रहकर हत्याकांड को अंजाम देने के लिए रेकी करते रहे। 16 मई को हत्या के बाद वह मनीष के ही घर रुका। 17 मई की सुबह चार बजे वह रुद्रपुर छोड़कर फरार हो गया।

यह भी पढ़ें : अवतार का ही था कंकाल, पत्‍नी ने दोस्‍त के साथ मिलकर जंगल में मारा और सलड़ी में फूंका था

यह भी पढ़ें : खाई में मिला महिला का शव, सिर पर थे चोट के गहरे निशान, हत्‍या की आशंका

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Skand Shukla

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप