जागरण संवाददाता, हल्द्वानी : राज्य में रबी विपणन सत्र 2021-22 जारी है। गेहूं बेचने को लेकर इस बार किसानों में खासा उत्साह दिखाई दे रहा है। बीते 15 दिन में अब तक राज्यभर में 2.37 लाख क्विंटल गेहूं की खरीद हो चुकी है।

240 क्रय केंद्रों में हो रही खरीद

गेहूं खरीद के लिए इस बार राज्य में 241 क्रय केंद्र बनाए गए हैं। जिसमें से कुमाऊं में सबसे अधिक 194 और गढ़वाल मंडल में 47 केंद्र हैं। इनमें से खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले विभाग की विपणन शाखा के 45, उत्तराखंड राज्य सहकारी विपणन संघ लिमिटेड के 167, भारतीय राष्ट्रीय उपभोक्ता सहकारी संघ मर्यादित के दस व नैफेड के 19 केंद्र हैं। कुमाऊं में 194 क्रय केंद्र हैं।

बोनस भी है दिलचस्पी का कारण

भारत सरकार ने इस बार गेहूं का न्यूनतम समर्थन मूल्य 1975 रुपये प्रति क्विंटल निर्धारित किया है। इतना ही नहीं राज्य सरकार द्वारा किसानों को 20 रुपये प्रति क्विंटल का बोनस का भी भुगतान इस बार किया जाएगा। इस बार गेहूं खरीद को लेकर किसानों की दिलचस्पी का एक बड़ा कारण यह भी है।

18.50 लाख क्विंटल गेहूं खरीद का है लक्ष्य

राज्य को इस बार 22 लाख व कुमाऊं को 18.50 लाख क्विंटल गेहूं खरीद का लक्ष्य मिला है। विपणन सत्र 15 मई तक चलेगा। कुमाऊं में अब तक 2.37 लाख क्विंटल गेहूं की खरीद हो चुकी है।

बीते सत्र में पौने चार लाख क्विंटल हुई खरीद

संभागीय खाद्य नियंत्रण विभाग की मानें तो पिछले सीजन में कुमाऊं में 3.75 लाख क्विंटल गेहूं की खरीद हो सकी थी। पिछली बार सीजन 30 जून तक चला था।

गेहूं खरीद की स्थिति इस बार काफी अच्छी है। किसान गेहूं बेचने को लेकर अच्छा रुझान दिखा रहे हैं। 15 मई तक सीजन चलेगा। अब तक कुमाऊं में 2.37 लाख क्विंटल गेहूं की खरीद हो चुकी है।

ललित मोहन रयाल, संभागीय खाद्य नियंत्रक कुमाऊं

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप