बागेश्वर, जागरण संवाददाता : राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के सपनों का मिनी स्वीटजरलैंड कौसानी में पिछले पांच दिनों से पानी की बूंद नहीं गिरी। रविवार को दिन भर बिजली गुल रही। वहीं, जिले के शहर से लेकर गांव तक पेयजल किल्लत बनी हुई है। लोगों में आक्रोश है और उन्होंने उग्र आंदोलन की चेतावनी दी है।

जलसंस्थान मजदूरों की हड़ताल के कारण जिले में पेयजल संकट बना हुआ है। कौसानी में पिछले पांच दिनों से पानी की आपूर्ति ठप है। होटल ऐसोसिएशन के अध्यक्ष बबलू नेगी ने बताया कि बामुश्किल पर्यटक कौसानी पहुंचने लगे थे। लेकिन पानी नहीं होने के कारण उन्हें रोक नहीं पा रहे हैं। जिसके कारण व्यापारियों को भारी नुकसान हो रहा है। रविवार को दिन भर बिजली गुल रहने के कारण पर्यटकों की दिक्कतें बढ़ गई है।

इधर, नगर क्षेत्र में पिछले चार दिनों से पेयजल संकट बना हुआ है। जलसंस्थान के अधिशासी अभियंता चंदन सिंह देवड़ी ने बताया कि आइटीआइ से दस प्रशिक्षितों को पानी की आपूर्ति करने में लगाया है। बावजूद लोगों को पानी की आपूर्ति नहीं हो पा रही है। लोग सरयू मे पंप लगाकर पानी की आपूर्ति स्वयं करने लगे हैं।

उधर, बिजली उप केंद्र की मरम्मत का काम चलने के कारण जिले की विद्युत आपूर्ति लगभग सात घंटे ठप रही। जिसके कारण लोग जरूरी काम नहीं कर सके। पानी की पंपिंग योजनाएं भी शोपीस बन गई हैं। उपभोक्ता गीता देवी, कमला देवी, सरिता देवी, आनंदी देवी आदि ने कहा कि यदि आपूर्ति सुचारू नहीं हुई तो उग्र आंदोलन किया जाएगा। ऊर्जा निगम के अधिशासी अभियंता भास्कर पांडे ने बताया कि पांच बजे के बाद विद्युत आपूर्ति सुचारू हो जाएगी।

Edited By: Skand Shukla