संवाद सहयोगी, भीमताल : ओखलकांडा के लधिया घाटी में इन दिनों अधिकांश परिवारों के लोग बुखार, उल्टी, खांसी, सिरदर्द और पेट दर्द से ग्रसित हैं। रोग से कूकना, कैड़ा गांव, घैना, पड़ायल, काफली न्याय पंचायत खासी प्रभावित हैं। वहीं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के अनुसार तीन टीमों को प्रभावित क्षेत्रों में भेज दिया है। जो बीमार लोगों की जांच के बाद दवा वितरीत करेगी।

ग्राम प्रधान कूकना मदन नौलिया बताते हैं कि एक सप्ताह पूर्व जब क्षेत्र में कम क्षेत्र में यह रोग फैला था उस समय मुख्य चिकित्साधिकारी को मामले की जानकारी दी गई थी। लोंगों की मांग थी कि सप्ताह में कम से कम चार दिन फार्मासिस्ट को गांव में नियुक्त किया जाए, पर कार्रवाई नहीं हुई। ग्रामीणों के मुताबिक वर्तमान में पांच न्याय पंचायत में हर परिवार में कोई न कोई बीमारी से बिस्तर में पड़ा हुआ है। क्षेत्र में कोई स्वास्थ्य केन्द्र नहीं है ऐसे में स्थानीय लोंगों में खासा रोष व्याप्त है। तीन टीमों को क्षेत्र में भेजा गया है

चिकित्साधिकारी, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र ओखलकांडा डॉ. एसपी सिंह ने बताया कि क्षेत्र में वायरल बुखार फैला हुआ है। विभाग के द्वारा तीन टीमों को प्रभावित क्षेत्रों में भेज दिया गया है। पहले चरण में सभी स्कूलों में जांच की जा रही है। बुधवार से टीमें प्रभावित गांवों में जाकर रोगियों को दवा आदि वितरित करेगी। विभाग बीमारी पर नजर रखे हुए है। विभाग के पास पर्याप्त दवाइयां आदि हैं। फॉर्मासिस्ट नहीं किए जा रहे तैनात

ग्राम प्रधान कूकना मदन नौलिया ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग से बार बार सप्ताह में चार दिन नियमित समय में फार्मासिस्ट को क्षेत्र में तैनात करने की मांग की जाती रही है। पर ना तो विभाग सुन रहा है और न ही स्थानीय प्रशासन व जनप्रतिनिधि। ग्रामीण पुन: इस बार चुनाव का बहिष्कार करेंगे

Posted By: Jagran