संवाद सहयोगी, भीमताल : चांफी में एक फूल कारोबारी द्वारा राजस्व विभाग की भूमि पर अतिक्रमण करने के प्रयास को ग्रामीणों ने विफल कर दिया। उसके द्वारा किए जा रहे अतिक्रमण को राजस्व विभाग और वन विभाग की संयुक्त टीम ने ध्वस्त कर दिया। मामला चाफी में फूल का कारोबार करने वाले इंडो डच नर्सरी से संबंधित है। इस कंपनी को उद्यान विभाग ने लीज पर जमीन दी है। कंपनी के पॉली हाउस की जमीन से लगा आस पास के घिंघरानी, हेडियागांव, चांफी, अल्चौना, भांकर ओर सिरवा गांव के ग्रामीणों का श्मशान घाट है। कंपनी के द्वारा इस भूमि पर अतिक्रमण कर वहां पॉलीहाउस निर्माण की प्रक्रिया जैसे ही प्रारंभ की गई तो क्षेत्र के ग्रामीण एकत्र हो गए और कारोबारी के द्वारा किए जा रहे कार्य की सूचना डीएफओ नैनीताल टीआर बीजूलाल और वन क्षेत्राधिकारी मुकुल शर्मा को देने के साथ साथ उपजिलाधिकारी और राजस्व अधिकारी को दी। सूचना पर मौके पर डिप्टी रेंजर भवाली और राजस्व विभाग की टीम ने अतिक्रमण ध्वस्त किया। वहीं टीम को फूल कंपनी के स्वामी और कारोबारी सुधीर चड्ढा ने अवगत कराया कि उनके द्वारा हर वर्ष इस क्षेत्र में सुरक्षा को लेकर सफाई की जाती आ रही है। इस वर्ष भी उनके द्वारा सफाई कराने का कार्य किया जा रहा था। वहीं क्षेत्रीय विधायक राम सिंह कैड़ा ने मौके पर पहुंच कर अतिक्रमण पर नाराजगी व्यक्त करते हुए शमशान घाट पर अतिक्रमण नहीं करने को कहा। इस दौरान सुरेन्द्र सिंह परिहार, अल्चौना ग्राम प्रधान भावना वर्मा, क्षेत्र पंचायत सदस्य अल्चौना खीम राम, क्षेत्र पंचायत हेडिया गांव दीपू चौनाल, आदि उपस्थित थे। टीम को भेजा गया है

वन क्षेत्राधिकारी मुकुल शर्मा ने बताया कि चांफी में अतिक्रमण की सूचना मिलने पर पूरी टीम को वहां भेजा गया था। अतिक्रमण की भूमि राजस्व विभाग की थी वहां संयुक्त रूप से टीम ने हो रहे अतिक्रमण को हटा दिया। अतिक्रमण हटा दिया गया है

प्रमोद जोशी, राजस्व निरीक्षक का कहना है कि राजस्व विभाग सूचना मिलने पर वहां पहुंची वहां श्मशान घाट से लगती भूमि पर सफाई आदि की गई थी। जिसको लेकर ग्रामीणों और जनप्रतिनिधियों को आपत्ति थी। वहां पर जो थोड़ा बहुत अतिक्रमण था उसको हटा दिया गया।

Posted By: Jagran